Home >> Breaking News >> कंपनियों के लालची मंसूबों को नाकाम करेंगे: गोयल

कंपनियों के लालची मंसूबों को नाकाम करेंगे: गोयल


download (2)
नई दिल्ली ,(एजेंसी) 19 जनवरी । मुख्य तौर पर इनवेस्टमेंट के दम पर ग्रोथ बढ़ाने के लिए सरकार प्राइवेट सेक्टर से पार्टनरशिप पर निर्भर होगी। कोल, पावर और रिन्यूएबल एनर्जी मिनिस्टर पीयूष गोयल ने हालांकि यह भी कहा कि सरकार बेहतर राजनीतिक दूरदर्शिता से बेहतर इकनॉमिक्स को कनेक्ट करेगी और संसाधनों को सस्ते में हड़पने की किसी भी तरह की कॉरपोरेट कोशिश को नाकाम कर देगी।

इकनॉमिक टाइम्स ग्लोबल बिजनेस समिट को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा कि पॉलिसी मोर्चे पर सरकार की गतिविधियों और रिफॉर्म्स को राजनीतिक-आर्थिक माहौल से इस तरह जोड़ा जाएगा, जिससे बेहतर कोशिशें बेकार नहीं जाएं।
उन्होंने कहा, ‘अगर सिस्टम में कॉम्पिटिशन पेश किया जाए, यह सुनिश्चित किया जाए कि पब्लिक सेक्टर और प्राइवेट सेक्टर का वजूद एक साथ बना रहे, तो पूरी प्रक्रिया पर संतुलित रुख अपनाया जा सकता है। मेरा मानना है कि आगे बढ़ने और नतीजे हासिल करने का यही तरीका है।’

गोयल ने कहा कि सरकार और कंपनियों को ईमानदार रुख अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘ऐसा नहीं हो सकता कि प्राइवेट सेक्टर देश के प्राकृतिक संसाधनों को ठिकाने लगाने के इरादे से काम करे और इसे सस्ता बताकर इसकी अहमियत को नजरअंदाज करने की कोशिश करे।’

गोयल की यह टिप्पणी ऐसे वक्त आई है, जब प्राइवेट सेक्टर बड़े पावर प्रोजेक्ट्स के लिए बिडिंग गाइडलाइंस में बदलाव के प्रस्ताव का जबरदस्त विरोध कर रहा है। साथ ही, कोल ब्लॉक्स के लिए बिड करने वाली कंपनियां उस प्रावधान का भी विरोध कर रही हैं, जिसमें टेक्निकल बिड स्टेज के दौरान शुरुआती प्राइस ऑफर पेश करने की बात है। कोल मिनिस्ट्री के मुताबिक, इस शर्त के कारण सिर्फ गंभीर खिलाड़ी ही बिडिंग करेंगे और इससे ब्लॉक्स को किनारे करने की कोशिशों को झटका लगेगा। गोयल ने कहा कि उन्होंने कोल सेक्टर को पूरी तरह से प्राइवेट नहीं करने पर आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि अंधाधुंध प्राइवेटाइजेशन समस्या का हल नहीं है।


Check Also

ठण्ड का सितम दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना : मौसम विभाग

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *