Home >> Breaking News >> विधान परिषद की चारों सीटों पर BJP निर्विरोध जीता

विधान परिषद की चारों सीटों पर BJP निर्विरोध जीता


Bjp मुंबई,(एजेंसी) 21 जनवरी । विधान परिषद की चार सीटों पर मंगलवार को निर्विरोध चयन हो गया। बीजेपी ने अपने मित्र दलों के दो सदस्यों शिवसंग्राम के नेता विनायक मेटे, राष्ट्रीय समाज पक्ष के नेता महादेव जानकर को अपने कोटे से विधान परिषद में भेजा है। जबकि एक सीट पर बीजेपी महिला मोर्चा की नेता स्मिता वाघ को विधान परिषद में भेजा है। स्मिता वाघ राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे की करीबी हैं। चौथी सीट पर उद्योग मंत्री, शिवसेना के सुभाष देसाई का निर्विरोध चयन हो गया है।

विपक्ष की ओर से किसी ने नामांकन नहीं भरा। इससे चुनाव कराने की नौबत हीं नहीं आई। बीजेपी के विधान परिषद सदस्य विनोद तावडे, आशीष शेलार और पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण के कारण तीन सीटें खाली हुईं जबकि एक सीट विनायक मेटे को अपात्र ठहराए जाने के कारण खाली पड़ी थी।

महाराष्ट्र BJP में भी असंतोष
विधान परिषद की चार में तीन सीटें ‘मित्र दलों’ के लिए छोड़ने पर बीजेपी के भीतर असंतोष पनप रहा है। वर्षों से बीजेपी के लिए काम रहे पदाधिकारियों का कहना है कि जो दल विधानसभा चुनाव में एक सीट भी नहीं जीत सके, उन्हें विधान परिषद की सीट देना पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय है। हालांकि पार्टी नेतृत्व ने आरक्षण के लिए उबल रहे धनगर समाज को संतुष्ट करने के लिए आरएसपी के महादेव जानकर और मराठा नेता एसएसपी के विनायक मेटे को विधान परिषद उम्मीदवारी देकर एक तरह से दूर की कौड़ी खेली है। मराठवाड़ा में धनगर और पश्चिम महाराष्ट्र में मराठा इन दोनों ही समुदायों को साधने की यह एक कोशिश है।

उत्तर भारतीयों को कोई पूछता ही नहीं
मुंबई बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उत्तर भारतीय समाज ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए जी जान से काम किया। हमारी वजह से ही अकेले मुंबई में बीजेपी को 10 से ज्यादा सीटों पर एक तरफा फायदा हुआ है। उसकी तुलना में समाज को कुछ मिला ही नहीं है। पार्टी के तमाम बड़े नेता सारे पद आपसे में बांट ले रहे हैं। चुनाव खत्म होते ही नेतृत्व ने उत्तर भारतीय और हिंदी भाषियों से मुंह मोड़ लिया है और अब उत्तर भारतीयों को पार्टी में कोई पूछ भी नहीं रहा।


Check Also

भाजपा कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे गृह मंत्री अमित शाह :  हैदराबाद

हैदराबाद नगर निगम का चुनाव राष्ट्रीय राजनीति का केंद्र बन चुका है। भाजपा ने इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *