Wednesday , 25 November 2020
Home >> Exclusive News >> लखनऊ से पेशी पर भेजा गया कैदी रामपुर से फरार

लखनऊ से पेशी पर भेजा गया कैदी रामपुर से फरार


images लखनऊ,(एजेंसी) 25 जनवरी । -लखनऊ की जिला जेल में काट रहा था दस साल की सजा
-अमानत में खयानत के मामले में भेजा गया था पेशी पर
राजधानी पुलिस के तीन सिपाहियों की अभिरक्षा में पेशी पर रामपुर भेजा गया एक कैदी शनिवार की सुबह पुलिसकर्मियों को चकमा देकर भाग निकला। पुलिसकर्मियों ने कैदी को चारों तरफ तलाशा, लेकिन उसका सुराग नहीं लगा। पुलिसकर्मियों ने रामपुर के सिविल लाइंस थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

रामपुर के भामउवा गांव निवासी तौफीक लखनऊ जिला जेल में निरुद्ध था। शनिवार को तौफीक की रामपुर जिले की अदालत में अमानत में खयानत के एक मामले में पेशी थी। तौफीक को लखनऊ पुलिस लाइन से तीन सिपाही मोहम्मद इरशाद खान, रामपाल यादव और कौशलेन्द्र सिंह यादव शुक्रवार को रामपुर ले गए थे। शनिवार की सुबह तीनों सिपाही और आरोपी तौफीक रामपुर के सिविल लाइंस इलाके में खाना खा रहे थे। इस बीच तौफीक दोनों सिपाहियों को चकमा देकर भाग निकला। सिपाहियों ने इधर-उधर तलाशना शुरू किया, लेकिन उसका सुराग नहीं मिला। उसके बाद पुलिसकर्मियों ने सिविल लाइंस पुलिस को मामले की जानकारी दी। इस पर रामपुर के सिविल लाइंस थाने में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

लखनऊ के प्रतिसार निरीक्षक अजय त्रिपाठी ने बताया कि तौफीक को 2008 में नारकोटिक्स विभाग ने लखनऊ में मादक पदार्थ के साथ पकड़ा था। अदालत से उसे 10 साल की सजा और एक लाख रुपये जुर्माना हुआ था। वह लखनऊ की जिला जेल में सजा काट रहा था। रामपुर के सिविल लाइंस में उसके खिलाफ अमानत में खयानत का मुकदमा दर्ज हुआ था। उसकी पेशी के लिए पुलिस लाइंस लखनऊ के तीन जवान उसे रामपुर ले गए थे। रामपुर कोर्ट में पेशी के बाद रामपुर रेलवे स्टेशन के पास से वह भाग गया है। रामपुर पुलिस ने कैदी तौफीक और पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसपी रामपुर ने एसएसपी लखनऊ को फैक्स भेजकर तीनों पुलिस कर्मियों को लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित करने की संस्तुति की है।

इसीलिए भागते हैं कैदी
बंदियों को पेशी पर लाने के बाद जिला जेल में उनकी आमद कराई जाती है, लेकिन पुलिसकर्मी जो भी कैदी लाते हैं उनकी जिला जेल में आमद नहीं कराते। सुविधा शुल्क के लिए पुलिसकर्मी अपनी नौकरी दांव पर लगाते हैं और बंदियों को होटल में ठहराते हैं। इसकी वजह से मौका पाकर बंदी भाग जाता है। रामपुर में होटल पर खाना खाने के दौरान बरती गई लापरवाही की वजह से ही तौफीक भागने में कामयाब रहा।


Check Also

खुशखबरी दिल्ली में कोरोना रिकवरी दर फिर से 90 फीसदी से ज्यादा पहुची

राजधानी में कोरोना के मामले भले ही तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन संक्रमित मरीज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *