Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> वुमेन पावर ने बढ़ाया गणतंत्र का मान

वुमेन पावर ने बढ़ाया गणतंत्र का मान


pooja-thakur_012515014417 नई दिल्ली,(एजेंसी) 27 जनवरी । 66वें गणतंत्र दिवस के मौके पर इस बार राजपथ पर महिला शक्ति का जीता-जागता उदाहरण देखते को मिला। पहली बार राजपथ पर महिला सैन्य दस्ता शामिल हुआ। इस दस्ते का नेतृत्व कैप्टन दिव्या अजीत ने किया। जब यह दस्ता सलामी मंच के आगे से गुजरा, तो राजपथ के दोनों तरफ बैठे दर्शकों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया।

आवाज से दोगुनी गति से उड़ान भरने वाली आकाश सुपरसैनिक मिसाइल को पहली बार राजपथ पर लाया गया। आकाश पूर्णरूप से स्वदेशी तकनीक से बनी है। यह जमीन से हवा में मार करने वाली अत्याधुनिक और पूर्ण रूप से स्वचालित शस्त्र प्रणाली पर आधारित है। माउंट एवरेस्ट को फतह करने वाली महिला अधिकारियों की झांकी को भी पहली बार परेड में शामिल किया गया। भारतीय सेना की पहली महिला अधिकारियों की टीम ने साल-2005 में एवरेस्ट अभियान में हिस्सा लिया था। मेजर अश्वनी एएस पवार एवरेस्ट फतह करने वाली पहली महिला अधिकारी बनीं। वहीं बीएसएफ ने भी अपनी पीकॉक सहित बुलेट मोटरसाइकल पर चार नई फॉरमेशन पेश की। बीएसएफ के जांबाजों ने लगातार दूसरी बार राजपथ पर यह करतब दिखाए।

राजपथ पर पहली बार तेलंगाना राज्य, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, मेक इन इंडिया योजना और जनधन योजना के अलावा गुजरात की स्टेच्यू ऑफ यूनिटी और सरदार सरोवर परियोजना की झांकी शामिल है।


Check Also

भारत ने सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस लैंड अटैक वर्जन का सफल परीक्षण किया

भारत ने अपनी सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस के लैंड अटैक वर्जन का आज सफल परीक्षण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *