Home >> In The News >> रुपये की पूर्ण परिवर्तनीयता को भारत अभी तैयार नहीं : रिजर्व बैंक

रुपये की पूर्ण परिवर्तनीयता को भारत अभी तैयार नहीं : रिजर्व बैंक


INDIA-ECONOMY-RBI मुंबई ,(एजेंसी) 29 जनवरी । भारत अभी भी पूंजी खाते में रुपये की पूर्ण परिवर्तनीयता के लिए तैयार नहीं है। देश अभी एक विस्तार करती अर्थव्यवस्था है और बाहरी मोर्चे पर इसे स्थिरता की जरूरत है। रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर एच.आर. खान ने यह बात कही।

खान ने कहा कि रुपये को पूंजी खाते में पूरी तरह परिवर्तनीय बनाने के नफे- नुकसान से जुड़ा मुद्दा काफी विवादित मुद्दा है। ‘फिलहाल, इस समय हम इसके लिए तैयार नहीं हैं।’ खान ने कहा कि विदेशी विनिमय बाजार की पृष्ठभूमि 1991 में देश के समक्ष आए भुगतान संतुलन संकट के बाद कई कारणों पर आधारित है। रिजर्व बैंक ने खान द्वारा 17 जनवरी को मुंबई में एक प्रबंधन संस्थान में इस संबंध में दिए भाषण को वेबसाइट पर डाला है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने 1994 में रुपये को चालू खाते में पूरी तरह परिवर्तनीय बनाने की अनुमति दी थी। उसके बाद से रुपये को पूंजी खाते में भी परिवर्तनीय बनाया जा रहा है। वर्तमान में भारतीय मुद्रा सिर्फ चालू खाते में ही परिवर्तनीय है। हालांकि, कुछ पूंजी खाते के लेनदेन की भी अनुमति है। चालू खाते की परिवर्तनीयता का मतलब है कि मुद्रा की सीमा पार आवाजाही पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है।

विदेशी निवेशक जहां देश में 81 अरब डालर तक के बॉंड खरीद सकते हैं वहीं शेयर बाजार में निवेश की कोई सीमा नहीं है।


Check Also

ओडिशा सरकार ने सुंदरगढ़ जिले में एक दूसरे एम्स की स्थापना के लिए जारी किया प्रस्ताव

ओडिशा सरकार ने राज्य के पश्चिमी हिस्सों में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *