Home >> Breaking News >> राहुल ने लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा की

राहुल ने लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा की


 

नई दिल्ली, एजेंसी। हालिया विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी की करारी हार के बाद पहली बड़ी चुनावी कसरत के तहत कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज शीर्ष नेताओं और कांग्रेस शासित 12 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ रणनीतिक बैठक की जिसमें पार्टी को पूरे दमखम के साथ चुनावी समर के लिए तैयार करने पर जोर दिया गया।

आज सुबह शुरू हुई इस एक दिवसीय बैठक में कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं की शत प्रतिशत उपस्थिति रही जिसमें ए के एंटनी, सुशील कुमार शिंदे, पी चिदम्बरम , अहमद पटेल , जयराम रमेश , दिग्विजय सिंह , जनार्दन द्विवेद्वी, कपिल सिब्बल और के बी थामस ने भाग लिया।

दिल्ली और राजस्थान में सत्ता गंवाने के बाद कांग्रेस इस समय केवल 12 राज्यों में सत्ता में बची है जिनमें मणिपुर, मिजोरम, असम, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश , हरियाणा , हिमाचल प्रदेश , उत्तराखंड , महाराष्ट्र , अरूणाचल प्रदेश , केरल और मेघालय शामिल हैं ।

हाल के विधानसभा चुनावों में मिली पराजय को ध्यान में रखते हुए पार्टी उन राज्यों में अपनी पकड़ बनाये रखने के लिए रणनीति बनाने को इच्छुक है जहां फिलहाल वह सत्ता में है । चुनावी रणनीति तैयार करने के लिए मुख्यमंत्रियों की यह बैठक कांग्रेस के वार रूम के नाम से परिचित 15 गुरूद्वारा रकाबगंज में शुरू हुई । बैठक में लोकपाल और लोकायुक्त विधेयक के पारित होने के बाद पार्टी की आगे की रणनीति पर चर्चा की जायेगी । मंहगाई का मुद्दा और इस पर काबू पाने के उपायों और साथ ही खाद्य सुरक्षा मुद्दे पर विस्तार से चर्चा होगी ।

दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के तत्काल बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंहगाई को एक मुद्दा बताते हुए कहा था कि हो सकता है पार्टी के पराजय के पीछे यह भी एक कारण रहा हो । कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भ्रष्टाचार के मुद्दे को पार्टी के मंच पर और साथ ही सर्वाजनिक मंचों पर अक्सर उठाते रहे हैं । 21 दिसम्बर को फिक्की के एक सम्मेलन में उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार सबसे बड़ा मुद्दा है और यह लोगों का खून चूस रहा है ।

मुख्यमंत्रियों की यह बैठक कांग्रेस महासमिति की 17 जनवरी को होने वाली बैठक से पहले हो रही है । महासमिति की इस बैठक में पार्टी की भविष्य की रणनीति पर चर्चा की जायेगी । मुख्यमंत्रियों और केन्दीय नेताओं के अलावा आज की बैठक में एआईसीसी के राज्यों के प्रभारी महासचिव भी हिस्सा ले रहे हैं ।


Check Also

बैंक कर्मियों के संक्रमित होने पर बैंक कर्मचारी यूनियनों ने सरकार से रोस्टर प्रणाली लागू करने की मांग की….

कोरोना संक्रमण की चपेट में सरकारी कार्यालयों के साथ अब बैंक भी आ गए हैं। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *