Saturday , 28 November 2020
Home >> Breaking News >> ताइवान विमान दुर्घटना में मृतकों की संख्या हुई 31, अभी भी 12 लोग लापता

ताइवान विमान दुर्घटना में मृतकों की संख्या हुई 31, अभी भी 12 लोग लापता


65235-taiwanplane70
ताइपे ,(एजेंसी) 5 फरवरी । ताइवान में बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हुए ट्रांसएशिया एयरवेज के विमान का मलबा निकालने के लिए क्रेन के इस्तेमाल के बाद आज सुबह बचावकर्मी 12 लापता लोगों की खोज में जुट गए। इस विमान दुर्घटना में कम से कम 31 लोगों की मौत हो चुकी है।

58 लोगों को ले जा रहा विमान, उड़ान संख्या 235, कल ताइपे से उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद तेजी से एक ओर झुक गया था। इसके बाद वह एक पुल से जा टकराया और फिर कीलंग नदी में जा गिरा। विमान में सवार यात्रियों में से कई लोग चीनी थे। रबड़ की नौकाओं में सवार बचावकर्मियों ने विमान के मलबे से 15 लोगों को जीवित निकाला।

अंधेरा होने के बाद, वे लोग क्रेन लेकर आए। बचावकर्मियों द्वारा विमान के डूब चुके हिस्से में खोजबीन पूरी कर लिए जाने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। विमान नदी के तट से कई मीटर की दूरी पर डूबा था। एक ओर झुके विमान की नदी के ऊपर बने यातायात पुल से टकराने से पहले की नाटकीय वीडियो ऑनलाइन पोस्ट की गई हैं और प्रसारक इन्हें प्रसारित कर रहे हैं। ये वीडियो संभवत: लोगों ने कारों में से बनाई हैं।

इनमें से एक वीडियो में दिखाया गया है कि विमान के पंख उध्र्वाधर स्थिति में आ गए हैं और विमान सड़क पर एक वाहन से टकराने के बाद नदी में जाकर गिर गया। स्थानीय मीडिया में ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि चालक दल ने विमान को बेहद सघन आवासीय क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाने के लिए नदी की ओर जाने का फैसला किया होगा और तभी वह तेजी से मुड़ा होगा। लेकिन ताइवान के उड्डयन प्राधिकरण ने कहा कि उसके पास इससे जुड़े कोई साक्ष्य नहीं हैं। ताइवानी प्रसारणकर्ताओं ने नियंत्रण टावर के साथ विमान के अंतिम संपर्क की रिकॉर्डिंग को बार-बार प्रसारित किया। इसमें चालक दल ने तीन बार विपत्ति का संकेत दिया है। रिकॉर्डिंग में ऐसा कोई प्रत्यक्ष सुराग नहीं मिला है कि आखिर विमान संकट में फंसा क्यों? पिछले एक साल के भीतर इस विमानसेवा का दुर्घटनाग्रस्त होने वाला यह दूसरा विमान है। यह विमान और पिछले साल दुर्घटनाग्रस्त विमान दोनों ही फ्रांसिसी-इतालवी निर्मित एटीआर 72 थे।

कल दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान ने स्थानीय समयानुसार सुबह 11 बजकर 53 मिनट पर ताइपे के सोंगशान हवाईअड्डे से उड़ान भरी थी। यह ताइवानी नियंत्रण वाले किनमेन द्वीपसूह की ओर जा रहा था। ताइवानी नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने कहा कि चालक दल ने विपत्ति के संकेत उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद दे दिए थे। ट्रांसएशिया के निदेशक पीटर चेन ने कहा कि विमान के साथ संपर्क उसके उड़ान भरने के चार मिनट बाद ही टूट गया था। उन्होंने कहा कि मौसम की स्थितियां विमान की उड़ान के लिए अनुकूल थीं और दुर्घटना की वजह का पता अभी नहीं चल पाया है। उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि दरअसल, जो विमान दुर्घटना का शिकार हुआ है, वह नवीनतम मॉडल का था। उसे अभी एक साल तक भी इस्तेमाल नहीं किया गया था।


Check Also

कोरोना का कहर दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या 5156 के पार पहुची

दिल्ली में कोरोना वायरस आक्रामक होने से मरीजों की मौतों की संख्या में रोज बढ़ोतरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *