Home >> Breaking News >> नीतीश कटारा हत्याकांड में अदालत आज सुना सकती है फैसला

नीतीश कटारा हत्याकांड में अदालत आज सुना सकती है फैसला


nitish_s_325_020615084251 नई दिल्ली ,(एजेंसी) 6 फरवरी । दिल्ली हाईकोर्ट उस अपील पर शुक्रवार को आदेश सुना सकता है, जिसमें नीतीश कटारा हत्याकांड में उत्तर प्रदेश के नेता डीपी यादव के पुत्र विकास यादव और दो अन्य की सजा को चुनौती दी गई है। उच्च न्यायालय इस मामले में विकास और दो अन्य की दोषसिद्धि को पहले ही बरकरार रख चुका है।

विकास, उसके चचेरे भाई विशाल और सुखदेव पहलवान कटारा के अपहरण और हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं। कटारा की 16 और 17 फरवरी 2002 की दरम्यानी रात को हत्या कर दी गई थी, क्योंकि विकास को पीड़ित का अपनी बहन भारती के साथ प्रेम संबंध गंवारा नहीं था। भारती सपा के पूर्व सांसद डीपी यादव की बेटी हैं।

न्यायमूर्ति गीता मित्तल और न्यायमूर्ति जे आर मिड्ढा की पीठ 13 साल पुराने मामले में सजा को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर अपना फैसला सुनाएगी। अदालत ने पिछले साल आठ दिसंबर को दोषियों की सजा पर सुनवाई पूरी कर ली थी। अदालत तीनों दोषियों को अप्रैल 2014 से सुनाई गई सजा पर दलीलें सुन रही है।

दोषियों ने सजा में नरमी बरतने के साथ-साथ मौत की सजा से छूट की मांग की है। उन्होंने कहा कि वे सुधर सकते हैं और उनका कृत्य इतना बर्बर या जघन्य नहीं था कि वे मौत की सजा के हकदार हैं।

दूसरी तरफ पीड़ित की मां नीलम कटारा और दिल्ली पुलिस ने उनके अपराध को ‘रेयरेस्ट ऑफ रेयर’ बताते हुए तीनों को मौत की सजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर दोषियों को मौत की सजा नहीं दी जाती है, तो उन्हें बढ़े हुए आजीवन कारावास की सजा दी जाए। उच्च न्यायालय ने 2 अप्रैल, 2014 को निचली अदालत के उस फैसले को बरकरार रखा था, जिसमें इस अपराध को झूठी शान की खातिर हत्या बताया गया था।


Check Also

दिल्ली कूच पर निकले भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत कई किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

करनाल में भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत कई किसानों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *