Home >> Breaking News >> भारत में पिछले कुछ सालों में धार्मिक असहनशीलता बढ़ी, अगर महात्मा गांधी होते तो उन्हें गहरा सदमा लगता: ओबामा

भारत में पिछले कुछ सालों में धार्मिक असहनशीलता बढ़ी, अगर महात्मा गांधी होते तो उन्हें गहरा सदमा लगता: ओबामा


Obama Prayer Breakfas_AHUJ
नई दिल्ली ,(एजेंसी) 6 फरवरी । गणतंत्र दिवस पर देश के मेहमान बने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का भारत को लेकर बड़ा बयान दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ”भारत में धार्मिक असहनशीलता बढ़ी है। इस माहौल में अगर महात्मा गांधी होते तो उन्हें गहरा सदमा लगता।”

ओबामा ने यह बात गुरुवार को प्रेयर ब्रेकफास्ट कार्यक्रम के दौरान रही। ओबामा ने कहा ”मैं और मिशेल अभी भारत यात्रा से लौटे हैं भारत एक अद्भुत, बहुत सपंदर और विविधिताओं से भरा देश है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में भारत में एक दूसरे के धर्मों पर हमले बढ़े हैं।”

उन्होंने कहा, ”भारत में सभी धर्मों के लोग अपनी विरासत और और अपने विश्वास के कारण दूसरे धर्मों के लोगों को निशाना बना रहे हैं। अगर इस माहौल में माहात्मा गांधी होते जिन्होंने देश को आजादी दिलाई उन्हें भी गहरा सदमा लगता।”

इससे पहले बुधवार को व्हाइट हाउस की तरफ से ओबामा के भारत में धार्मिक असहिष्णुता पर दिए गए बयान को लेकर सफाई दी गई थी। व्हाइट हाउस की तरफ से कहा गया राट्रपति का भारत में दिया गया बयान किसी पार्टी विशेष के खिलाफ टिप्पणी नहीं थी।

गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत आए अमेरिकी राष्ट्रपति ने धार्मिक सहनशील पर जोर दिया था, ओबामा ने कहा था कि भारत तब तक सफल रहेगा, जबतक कि वो धार्मिक आधार पर नहीं बंटेगा।


Check Also

हैदराबाद चुनाव : बीजेपी आलोचकों के दिलों पर राज कर रही और नए क्षेत्रों में जीत हासिल कर रही है : अभिनेत्री कंगना रणौत

हैदराबाद चुनाव पर अभिनेत्री कंगना रणौत ने कांग्रेस पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *