Home >> Breaking News >> शाही इमाम के समर्थन पर खुद केजरीवाल ने साधी चुप्पी

शाही इमाम के समर्थन पर खुद केजरीवाल ने साधी चुप्पी


kejriwal 2
नई दिल्ली,(एजेंसी) 7 फरवरी । दिल्ली में तेज़ रफ्तार वोटिंग जारी है, लेकिन सियासी मुद्दे राजनीतिक दलों और नेताओं का पीछा नहीं छोड़ रहे हैं। आज सुबह जब वोट देने के लिए आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल निकले तो मीडिया ने उनसे दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी के समर्थन पर सवाल पूछा डाला, लेकिन उन्होंने इस सवाल पर चुप्पी साध ली।

हालांकि, शुक्रवार को जब शाही इमाम ने आम आदमी पार्टी के समर्थन में वोट करने की अपील की थी तो तुरंत आम आदमी पार्टी ने इमाम के समर्थन को ठुकरा दिया।

अब सवाल है कि आज अरविंद केजरीवाल की चुप्पी का क्या मतलब है? केजरीवाल रणनीति के तहत नहीं बोल रहे है ताकि वोटिंग के दौरान किसी विवाद में फंसकर अपना खेल खराब नहीं किया जाए।

इमाम बुखारी ने शुक्रवार को मुसलमानों से अपील है कि वो आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों की जिताएं।

जिसके बाद आम आदमी पार्टी ने न सिर्फ बुखारी की अपील को ठुकराया था, बल्कि आशंका जताई कि बुखारी ने बीजेपी की मिलीभगत से आम आदमी पार्टी के समर्थन में अपील की थी।

आप ने बुखारी का समर्थन ठुकराया

आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष का कहना है कि उन्हें उस इमाम बुखारी का समर्थन नहीं चाहिए, जो वक़्त वक़्त पर कई दलों से समर्थन ले चुके हैं।

आशुतोष ने कहा, “जिस बुखारी ने अपने बेटे की दस्तारबंदी में देश के पीएम के बजाए पाकिस्तान के पीएम को न्योता दिया था, हम चाहें पीएम के कितने ही विरोध हों, लेकिन उनके सम्मान को दरकिनार नहीं कर सकते। हम बुखारी की राजनीति की निंदा करते हैं और उसने समर्थन को ठुकराते हैं।”

आशुतोष ने आगे कहा, “आम आदमी पार्टी आम आदमी की राजनीति करती है, किसी हिंदू या मुसलमान की राजनीति नहीं करती है।”

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि जिस तरह चुनाव के एक दिन पहले बुखारी ने आम आदमी पार्टी के समर्थन में बयान दिया और फिर बीजेपी नेता अरुण जेटली का बयान आया उससे जाहिर है कि दोनों की मिलीभगत है।

आपको बता दें कि अरुण जेटली ने बुखारी के आम आदमी पार्टी के समर्थन पर कहा था कि दिल्ली की जनता इस ‘फतवे’ का जवाब बैलेट से देगी।
imam bukhari
क्या कहा था बुखारी?

बुखारी का कहना था कि देश की गंगा- जमुनी तहज़ीब को बचाने के लिए उनकी दिल्ली के वोटरों खासकर मुसलमानों से अपील है कि आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों की जीत यक़ीनी बनाएं।

आम आदमी पार्टी के पक्ष में वोट की अपील करते हुए इमाम बुखरी ने कहा, “हमने इस चुनाव में सेकुलर दल को हिमायत करने का फैसला किया है और इसी के तहते मुसलमानों से अपील करता हूं कि वो आम आदमी पार्टी के उम्मीदरों के हक में वोट करें।”

आपको बता दें कि दिल्ली चुनाव में ये पहला मौका नहीं है जब किसी धार्मिक गुरू ने किसी पार्टी के पक्ष में सियासी बयान दिए हों। इससे पहले डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत राम रहीम ने बीजेपी को को वोट देने की अपील की थी।


Check Also

किसी के बाप की हिम्मत नहीं है वो फिल्म सिटी ले जाए, हम महाराष्ट्र से कुछ भी ले जाने नहीं देंगे : सामना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने राज्य में फिल्म सिटी बनाने की योजना बना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *