Home >> Breaking News >> एग्जिट पोल: केजरीवाल दिल्ली के अगले मुख्यमंत्री

एग्जिट पोल: केजरीवाल दिल्ली के अगले मुख्यमंत्री


Exit-Poll (1)
नई दिल्ली,(एजेंसी) 7 फरवरी । एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी बाजी मारती हुई दिख रही है। चाणक्य के मुताबिक केजरीवाल दिल्ली में 53 पर्सेंट लोगों की पसंद हैं जबकि किरन बेदी 37 पर्सेंट ही लोगों की पसंद हैं। मतलब किरन बेदी केजरीवाल से 17 पर्सेंट पीछे हैं। इंडिया टुडे सिसरो के मुताबिक आप को 35 से 43 सीटें मिल सकती हैं। इसी पोल के मुताबिक बीजेपी 23 से 29 और कांग्रेस 3-5 पर ही सिमट कर रह सकती है। एबीपी ने बीजेपी को 32 पर्सेंट वोट और आम आदमी पार्टी को 37 पर्सेंट वोट मिलने का अनुमान बताया है। आप को 8 पर्सेंट वोट का फायदा होते दिख रहा है। कांग्रेस एक बार फिर से तीसरे नंबर पर खिसकती दिखी रही है। कांग्रेस को 6 पर्सेंट वोट का नुकसान हुआ है।

पार्टी चाणक्य-न्यूज 24 इंडिया टीवी-सीवोटर एबीपी-नीलसन इंडिया टुडे-सिसरो
आम आदमी पार्टी 31- 39 39 35- 43
भारतीय जनता पार्टी 27- 35 28 23- 29
कांग्रेस 2- 4 3 3- 5
अन्य

पिछली बार के एग्जिट पोल में चाणक्य ने आम आदमी को 31 सीटें दी थीं और उसे 28 सीटों पर जीत मिली थी। बीजेपी को इसने 29 सीटें मिलने का अनुमान बताया था और जीत 31 पर मिली थी। कांग्रेस को चाणक्य ने 10 सीटें मिलने का अनुमान बताया था और उसे 8 मिली थीं। टाइम्स नाउ ने आम आदमी पार्टी को 11, बीजेपी को 31 और कांग्रेस को 24 सीटें मिलने का अनुमान बताया था। एबीपी नीलसन ने आप को 15, बीजेपी को 37 और कांग्रेस को 16 सीटें दी थीं। आज तक ने आप को 6, बीजेपी को 41 और कांग्रेस को 20 सीटें मिलने का दावा किया था।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदाताओं ने वोटिंग को लेकर बढ़िया उत्साह दिखाया है। दिल्ली ऑफिस से चुनाव आयोग को मिली जानकारी के मुताबिक 3 बजे तक 63.46% वोटिंग हुई है। सुबह वोटिंग की शुरुआत धीमी रही लेकिन 9 बजे के बाद पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की लंबी लाइनें दिखने लगीं। चीफ इलेक्शन कमिश्नर एचएस ब्रह्मा ने कहा कि 65-70 पर्सेंट दिल्ली में टर्नआउट रहने की उम्मीद है। दिसंबर 2013 के दिल्ली चुनाव में 66 पर्सेंट वोटिंग हुई थी।वोटिंग खत्म होने के बाद अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘हमने अपना काम ईमानदारी और निःस्वार्थ भाव से किया। अब फल भगवान के हाथों में है।’

सभी पार्टियों ने दिल्ली के मतदाताओं से वोट करने की अपील की थी। सभी पार्टियां इस मुद्दे पर एक मत हैं कि दिल्ली को खंडित जनादेश नहीं मिलना चाहिए। दिसंबर 2013 के चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था। अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी से मिल रही कड़ी टक्कर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह मतदाताओं से भारी संख्या में निकल वोटिंग करने की अपील की थी।

बीजेपी चीफ अमित शाह ने शाम 6 बजे पार्टी के टॉप नेताओं की मीटिंग बुलाई है। इस बार का दिल्ली चुनाव केजरीवाल बनाम किरन बेदी रहा। पार्टी कैंडिडेट्स की पहचान के मुकाबले केजरीवाल और बेदी की शख्सियत ज्यादा अहम रही। कभी साथ में आंदोलन करने वाले किरन और केजरीवाल चुनावी कैंपेन में एक दूसरे पर हमलावर रहे।

अरविंद केजरीवाल ने लगातर ट्वीट कर पोलिंग बूथों पर धीमे मतदान के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि लोगों को वोट डालने में कुछ ज्यादा ही इंतजार करना पड़ रहा है। केजरीवाल ने कहा कि कहीं-कहीं को दो-दो घंटे लाइन में लगना पड़ रहा है।

दिसंबर 2013 के चुनाव में खंडित जनादेश के बाद केजरीवाल ने कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी लेकिन उन्होंने 49 दिनों में ही इस्तीफा दे दिया था। इस बार के चुनाव में उन्होंने दिल्ली की जनता से पूर्ण बहुमत की मांग की है। किरन बेदी अपने जीवन का पहला चुनाव लड़ रही हैं और उन्होंने दिल्ली को पूरी तरह से बदलने का वादा किया है।

आज बीजेपी ने जोर देकर कहा कि दिल्ली चुनाव को पीएम मोदी की लोकप्रियता से जोड़कर नहीं देखा जा सकता। दिल्ली बीजेपी की नेता आरती मेहरा ने कहा कि दिल्ली का जनादेश पीएम मोदी के कामों का जनमत संग्रह नहीं है।


Check Also

ठण्ड का सितम दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना : मौसम विभाग

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *