Home >> बिज़नेस >> कमजोर वैश्विक रूख से सोने में गिरावट, चांदी स्थिर

कमजोर वैश्विक रूख से सोने में गिरावट, चांदी स्थिर


65555-gold

नई दिल्ली,(एजेंसी) 8 फरवरी । कमजोर वैश्विक रुख के बीच मौजूदा स्तर पर आभूषण निर्माताओं एवं फुटकर विक्रेताओं की मांग घटने के कारण बीते सप्ताह दिल्ली के सर्राफा बाजार में लगातार दूसरे सप्ताह सोने की कीमतों में गिरावट आई। चांदी की कीमत 38,350 रुपए प्रति किग्रा पर स्थिर रही।

राष्ट्रीय राजधानी में शादी विवाह के मौसम के लिवाली समर्थन के कारण 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की कीमत 28,450 और 28,250 रुपये प्रति 10 ग्राम पर उंचा खुला लेकिन उंचे स्तर पर मांग घटने से इसमें गिरावट आई और अंत में पिछले सप्ताहांत के मुकाबले 150-150 रुपए की गिरावट के साथ क्रमश: 28,200 रुपए और 28,000 रुपए प्रति 10 ग्राम रह गई। छिटपुट गतिविधियों के कारण गिन्नी में सीमित दायरे में उतार चढ़ाव आया और अंत में 24,000 रुपए प्रति 8 ग्राम के पूर्वस्तर पर बंद हुए।

वैश्विक स्तर पर सोने की कीमत 1,228.20 डॉलर प्रति औंस रह गई जो 15 जनवरी के बाद का निम्नतम स्तर है, जबकि चांदी की कीमत 16.54 डॉलर प्रति औंस रही।

दूसरी ओर लिवाली और बिकवाली के कारण चांदी तैयार के भाव लाभ और हानि के बीच झूलते हुए 38,600 रुपए की उंचाई और 38,000 रुपए के निम्न स्तर को छूने के बाद अंत में 38,350 रुपए प्रति किग्रा पर स्थिर बंद हुए। चांदी साप्ताहिक डिलीवरी के भाव हालांकि 15 रुपए की मामूली तेजी के साथ 38,140 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुए। पूरे कारोबारी सत्र के दौरान छिटपुट सौदों के कारण चांदी सिक्कों के भाव लिवाल 63,000 रुपये और बिकवाल 64,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर बंद हुए।

बाजार सूत्रों ने कहा कि मौजूदा स्तर पर आभूषण और फुटकर विक्रेताओं की मांग घटने के कारण बहुमूल्य धातुओं की कीमतों पर दबाव रहा। इसके अलावा भविष्यवाणी के मुकाबले जनवरी में अमेरिकी अर्थव्यवस्था में अधिक रोजगार का सृजन होने से सोने और चांदी की कीमत तीन सप्ताह के निम्न स्तर को छू गयी। इस वजह से कमजोर वैश्विक रख के कारण भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई।


Check Also

बहुराष्ट्रीय शू कंपनी बाटा ने 126 साल के इतिहास में पहली बार भारतीय को अपना ग्लोबल CEO बनाया

बहुराष्ट्रीय शू कंपनी बाटा ने अपने 126 साल के इतिहास में पहली बार किसी भारतीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *