Home >> Breaking News >> सुनंदा मर्डर केस में शशि थरूर से सात घंटे पूछताछ

सुनंदा मर्डर केस में शशि थरूर से सात घंटे पूछताछ


ShashiTharoor-Sunanda
नई दिल्ली,(एजेंसी)13 फरवरी । कांग्रेस सांसद शशि थरूर से उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की रहस्यमय परिस्थिति में हुई मौत के मामले में दिल्ली पुलिस की विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गुरुवार को दो दौर में लगभग सात घंटे तक पूछताछ की। एसआईटी की ओर से थरूर से दो घंटे गुरुवार देर रात में की गई पूछताछ भी शामिल है जिस दौरान उन्हें विशेष रूप से आईपीएल विवाद को लेकर कुछ कड़े सवालों का सामना करना पड़ा।

थरूर से यह पूछताछ पांच सदस्यीय एसआईटी की टीम ने दक्षिण दिल्ली के वसंत विहार स्थित ‘एंटी ऑटो थेप्ट स्कवायड’ (एएटीएस) कार्यालय में की गई। दिल्ली पुलिस ने इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री से गत 19 जनवरी को पूछताछ की थी। थरूर को गुरुवार रात में पूछताछ के बाद अपने वकील के साथ जाते देखा गया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि थरूर से चौथे दौर की पूछताछ सप्ताहांत में हो सकती है क्योंकि उनके बयानों में कुछ विरोधाभास है।
shashi tharoor
थरूर के आज तिरूवनंतपुरम रवाना होने की संभावना है। उनसे पूछताछ ऐसे दिन हुई है जब आगे की जांच के लिए सुनंदा का विसरा अमेरिका में एफबीआई की प्रयोगशाला को भेजा गया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार थरूर ने दिन के समय पूछताछ के दौरान कुछ समय का विराम मांगा। उनका कहना था कि उन्हें यहां स्थित इंडिया हैबिटेट सेंटर में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेना है।

एसआईटी की पांच सदस्यीय टीम ने यहां थरूर के साथ उनके घरेलू नौकर बजरंगी और नारायण सिंह, थरूर दंपति के मित्र संजय दीवान, गंगा राम अस्पताल के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ रजत मोहन तथा निजी सहायक प्रवीण कुमार से भी पूछताछ की। इन लोगों से अलग से भी पूछताछ की गई।

सूत्रों ने बताया कि थरूर को आईपीएल विवाद पर सख्त सवालों का सामना करना पड़ा। यह विवाद 2010 की शुरूआत में उस वक्त सामने आया था जब वह विदेश राज्य मंत्री थे।

ये आरोप हैं कि उन्होंने सुनंदा को 70 करोड़ रूपये अदा कराने के लिए अपने पद का दुरूपयोग किया। यह रकम आईपीएल कोच्चि फेंचाइजी रेंडेजवस स्पोर्ट्स में 19 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है, हालांकि, उन्होंने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया।

सूत्रों ने बताया कि एसआईटी के सदस्य एवं एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ‘फेडरल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टीगेशन’ (एफबीआई) को सुनंदा का विसरा का नमूना देने के लिए अमेरिका रवाना हो गए हैं। सूत्रों ने बताया कि पुलिस इस बात की पुष्टि करना चाहती है कि क्या जहर रेडियोधर्मी समस्थानिक (रेडियोएक्टिव आइसोटोप) था जिसका पता भारतीय प्रयोगशालाओं में नहीं चल सकता।
shahhi tharoor
थरूर गुरुवार को पहले सरोजनी नगर पुलिस थाना पहुंचे और बाद में वह पूर्वाह्न करीब साढ़े ग्यारह बजे दक्षिण दिल्ली के वसंत विहार स्थित एएटीएस कार्यालय ले जाए गए जहां उनसे पांच सदस्यीय एसआईटी टीम ने पूछताछ की।

पुलिस उपायुक्त प्रेम नाथ के नेतृत्व वाली और अतिरिक्त डीसीपी पी एस कुशवाहा एवं तीन वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों वाली एसआईटी टीम ने थरूर से सुनंदा से उनके संबंधों एवं अन्य पहलुओं पर पूछताछ की।

दस्तावेजो में लिखी बातों पर यकीन किया जाए तो पता चलता है कि लडाई केवल तरार को लेकर ही नही होती थी खुद सुनंदा ने नलिनी सिंह से कहा कि शशि थरूर के कुछ औऱ महिलाओ से भी रोमांटिक संबंध रहे हैं और नौकर नारायण ने तो अपने बयानों में ऐसी एक महिला का नाम भी लिखा हुआ है। इन बयानों में तो इल्जाम सीधा शशि थरूर पर है कि सुनंदा से शादी निभाते वक्त वो महिलाओं के करीब जाने से हिचकते नहीं थे।

जांच टीम में शामिल आर्थिक अपराध शाखा के डीसीपी मंगेश कश्यप ने अब बंद हो चुके आईपीएल कोच्चि फ्रेंचाइजी के बारे में थरूर से कुछ सवाल पूछे।

सूत्रों ने बताया कि उनसे उन परिस्थितियों के बारे में पूछा गया जिनके चलते सुनंदा ने उन्हें तिरूवनंतपुरम से दिल्ली लौटते वक्त पिछले वर्ष 15 जनवरी को हवाईअड्डे पर छोड़ दिया था और लीला होटल चली गयी थी।

वहीं, दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने कहा, ‘‘हमने छह गवाहों को दूसरे दौर की पूछताछ के लिए बुलाया था। एसआईटी ने एक बार फिर उन्हें आमने सामने बिठाया और उनके बयान दर्ज किये।’’


Check Also

किसान आन्दोलन : खट्टर सरकार को लगा बड़ा झटका, निर्दलीय विधायक ने सरकार से समर्थन वापस लिया सबकी नजरे दुष्यंत चौटाला पर

किसानों के प्रदर्शन के बीच हरियाणा में मनोहर खट्टर सरकार को झटका लगा है. निर्दलीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *