Saturday , 28 November 2020
Home >> Breaking News >> अरविंद केजरीवाल शनिवार को रामलीला मैदान में लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

अरविंद केजरीवाल शनिवार को रामलीला मैदान में लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ


Arvind-2~13~02~2015~1423829236_storyimage

नई दिल्ली,(एजेंसी)13 फरवरी । जनलोकपाल के मुद्दे पर सरकार छोड़ने के ठीक एक साल बाद आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल शनिवार को ऐतिहासिक रामलीला मैदान में दिल्ली के आठवें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे।

दूसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने जा रहे केजरीवाल ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा को पछाड़ते हुए आप को एक बड़ी जीत दिलाई थी।

केजरीवाल के करीबी साथी मनीष सिसोदिया उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले सकते हैं, आप के एक अन्य नेता सत्येंद्र जैन भी दूसरी बार शपथ ले सकते हैं। पहली बार विधायक बनने वाले अन्य सभी- जितेंद्र तोमर, गोपाल राय, संदीप कुमार, असीम अहमद खान- केजरीवाल के मंत्रिमंडल के सदस्य हो सकते हैं।

आप के सूत्रों ने बताया कि शाहदरा के विधायक रामनिवास गोयल विधानसभा के स्पीकर हो सकते हैं, जबकि शालीमार बाग विधानसभा क्षेत्र की बंदना कुमारी उप स्पीकर होंगी।

46 वर्षीय केजरीवाल एक रेडियो संदेश के जरिए पहले ही दिल्ली के लोगों को अपने शपथग्रहण समारोह के लिए रामलीला मैदान आने का निमंत्रण दे चुके हैं। यह वही रामलीला मैदान है, जो तीन साल पहले भ्रष्टाचार रोधी अभियान का प्रमुख प्रदर्शनस्थल बना था।

दो दिन पहले से ही शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां शुरू कर चुके उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने आज मध्य दिल्ली में स्थित इस आयोजन स्थल पर तैयारियों को अंतिम रूप दिया। नगर निगम के अधिकारियों ने कहा कि आयोजन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं।

दिल्ली पुलिस के लगभग 1200 जवान आयोजन स्थल पर पैनी नजर रखेंगे। रामलीला मैदान में कल भारी भीड़ जुटने का अनुमान है। सिक्योरिटी विंग (सुरक्षा शाखा) मंच की सुरक्षा की जिम्मेदारी देखेगा, जहां दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग केजरीवाल और पांच अन्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। शपथ के बाद केजरीवाल सरकार के लिए अपनी प्राथमिकताओं का जिक्र कर सकते हैं।

वह आप के 70 सूत्री चुनावी घोषणापत्र को कार्यान्वित करने की रूपरेखा तैयार करने के लिए पहले ही प्रमुख सचिव डी एम सपोलिया से कह चुके हैं।

सरकार में मौजूद सूत्रों ने कहा कि प्रमुख सचिव सपोलिया ने सभी विभागों को निर्देश दिए हैं कि वे आप के 70 सूत्रीय घोषणापत्र को कार्यान्वित करने के लिए अलग-अलग रूपरेखाएं तैयार करें और वे नए मुख्यमंत्री के समक्ष विशेष प्रस्तुतिकरण देने के लिए तैयारी कर रहे हैं।

आप के घोषणापत्र में बिजली की दरों में 50 प्रतिशत कटौती, शहर में मुफ्त वाई-फाई की सुविधा, 10-15 लाख सीसीटीवी कैमरे लगाना, दिल्ली में दो लाख सार्वजनिक शौचालय बनाना, 20 नए कॉलेज बनाना और निजी स्कूलों में फीस का नियमन करना शामिल है।

घोषणापत्र में दिल्ली के अस्पतालों में 30 हजार अतिरिक्त बिस्तर का भी वादा किया गया है। इसके साथ ही अगले पांच वर्षों में आठ लाख नए रोजगारों के सृजन की भी बात कही गई है।

पिछले माह घोषणापत्र जारी करते हुए केजरीवाल ने घोषणा की थी कि आप सरकार बिजली की दरों में 50 फीसदी की कटौती करेगी और निजी बिजली वितरण कंपनियों का पूरा ऑडिट करवाएगी। इसके आधार पर बिजली दरों में बदलाव किया जाएगा।

केजरीवाल ने कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत की थी और उन्हें अपने शपथ ग्रहण समारोह का निमंत्रण दिया था। लेकिन महाराष्ट्र में पहले से ही किसी कार्यक्रम में शिरकत की योजना होने के चलते प्रधानमंत्री मोदी ने इस समारोह में आने से असमर्थता जताई थी। आप प्रमुख उस समय सिसोदिया के साथ थे।

सिसोदिया ने मुलाकात के बाद संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री ने उन्हें बताया कि वह शनिवार को दिल्ली से बाहर होंगे और समारोह में शामिल नहीं हो सकेंगे।

आप नेता ने बुधवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह और शहरी विकास मंत्री एम वैंकेया नायडू को भी अलग-अलग मुलाकातों के दौरान शपथ-ग्रहण समारोह में आने का निमंत्रण दिया था। दिल्ली के सभी सात सांसदों को भी इस समारोह में आमंत्रित किया गया है।


Check Also

कोरोना का कहर दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या 5156 के पार पहुची

दिल्ली में कोरोना वायरस आक्रामक होने से मरीजों की मौतों की संख्या में रोज बढ़ोतरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *