Home >> Politics >> महाराष्ट्र सरकार ने वेलेंटाइन डे का सर्कुलर वापस लिया

महाराष्ट्र सरकार ने वेलेंटाइन डे का सर्कुलर वापस लिया


VALAENTINE DAY
मुंबई,(एजेंसी)14 फरवरी । सतारा जिला शिक्षा अधिकारी (प्राथमिक) द्वारा सभी स्कूलों और कॉलेजों से अपने सभी छात्रों को अपनी मां के प्रति प्यार जताकर वेलेंटाइन डे मनाने का निर्देश देने के लिए जारी किया गया सर्कुलर मंत्रालय के शिक्षा विभाग के निर्देशों के बाद आज वापस ले लिया गया।

सतारा जिला शिक्षा अधिकारी (प्राथमिक) प्रवीण अहीरे ने कहा कि सतारा जिला परिषद के अध्यक्ष माणिकराव सोनवलकर के निर्देश के बाद 11 फरवरी को सर्कुलर जारी किया गया था। सोनवलकर को सतारा जिला परिषद के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) श्याम देशपांडे ने बताया था कि उन्होंने कुछ साल पहले कैसे इस तरह की एक खास पहल शुरू की थी।

अहीरे ने कहा, ‘चूंकि वेलेंटाइन डे का मतलब प्यार को बयां करना है, हम चाहते थे कि छात्र अपनी मांओं के प्रति अपने प्रेम को जाहिर करे। सभी शैक्षणिक संस्थानों से कहा था कि वे छात्रों से अपनी मांओं के प्रति प्रेम को समर्पित ‘हमब्रून वसार आले छात-ती जावा गई’ नाम की एक मराठी कविता सुनवाएं।’

उन्होंने कहा कि हालांकि ‘तकनीकी’ कारणों से सर्कुलर वापस ले लिया गया। शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने सतारा जिला अधिकारियों को सर्कुलर वापस लेने का निर्देश देने की पुष्टि की। अधिकारी ने कहा, ‘महाराष्ट्र राज्य शिक्षा विभाग से पूर्व मंजूरी लेने से पहले सर्कुलर जारी किया गया था।

सर्कुलर आम सभा की बैठक में भी पारित नहीं किया गया था.’ 11 फरवरी को जारी किया गया सर्कुलर जिले के सैकड़ों सरकारी एवं निजी प्राथमिक विद्यालयों और करीब 25 कॉलेजों को भेजा गया था। इसी बीच महाराष्ट्र के शिक्षा एवं संस्कृति मंत्री विनोद तावडे ने सर्कुलर जारी करने को ‘गलत’ बताया।

तावडे ने कहा, ‘हालांकि जिला प्रशासन की मंशा अच्छी थी, इसे एक कानूनी दृष्टिकोण नहीं दिया जा सकता। सर्कुलर पहले शिक्षा आयुक्त के पास जाना चाहिए था।’


Check Also

दुखद : दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की संख्या 9342 पहुची

लंबे समय से कोरोना की मार से कराह रही राजधानी दिल्ली के लिए राहत की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *