Saturday , 28 November 2020
Home >> Exclusive News >> उत्तर प्रदेश : राजभवन के अंदर जा रही कार से मिले तीन बम

उत्तर प्रदेश : राजभवन के अंदर जा रही कार से मिले तीन बम


download

लखनऊ,(एजेंसी) 15 फरवरी । उत्तर प्रदेश की राजधानी के हजरतगंज स्थित राजभवन में शनिवार की सुबह उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक कार गेट नंबर दो से अंदर जाने के लिए पहुंची। जब सुरक्षाकर्मियों ने कार की चेकिंग की तो कार में तीन जिंदा बम मिले। कार में बम मिलते ही राजभवन के सिक्योरिटी अफसरों के हाथ-पैर फूल गए।

आनन-फानन में कार चालक और कार में सवार चार लोगों को पकड़ लिया गया और उनको हजरतगंज पुलिस के हवाले कर दिया गया। कार में सवार चार लोग पुष्प प्रदर्शनी के निर्णायक टोली के सदस्य थे और राजभवन लॉन का निरीक्षण करने के लिए पहुंचे थे। उन लोगों का कार में मिले बम से कोई लेना-देना नहीं था।

डीआईजी रेंज आरके चतुर्वेदी ने बताया कि शनिवार की सुबह करीब 11 बजे राजभवन में लगने वाले पुष्प प्रदर्शनी के लिए लॉन निरीक्षण करने के लिए चार सदस्यों की एक निर्णायक टोली इण्डिगो कार यूपी 32 एफटी 0109 से पहुंची।

इस निर्णायक टोली में सहायक उद्यान निरीक्षक स्वंयवर, सेवानिवृत्त सीनियर हार्टिकल्चर इंस्पेक्टर दूधनाथ, सेवानिवृत्त मोम विशेषज्ञ प्रेमचंद और जिला उद्यान अधिकारी रायबरेली, गया प्रसाद सवार थे। कार को अधीक्षक/अवैतनिक सचिव प्रादेशिक पुष्प प्रदर्शनी वीरेंद्र यादव ने बुक कराया था।

कार आशियाना निवासी संतोष शर्मा की थी और उसको उसका साला रंजीत शर्मा चला रहा था। बताया जाता है कि सुबह करीब 11 बजे वह सभी लोग राजभवन पहुंचे। कार जैसे ही राजभवन के गेट नंबर दो से अंदर जाने लगी सुरक्षाकर्मियों ने कार को चेक करने के लिए रोक लिया। तलाशी के दौरान कार की डिग्गी से तीन जिंदा बम मिले। बम को देखते ही वहां मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने चालक रंजीत और निर्णायक टोली के लोगों को पकड़ लिया।

राजभवन में कार में बम मिलने की खबर मिलते ही पुलिस व प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए। मौके पर पहुंची हजरतगंज पुलिस कार चालक और निर्णायक टोली को लेकर हजरतगंज कोतवाली पहुंच गई। उधर, एलआईयू, बम निरोधक दस्ता और डीआईजी रेंज आरके चतुवेर्दी भी हजरतगंज कोतवाली पहुंच गए।

पूछताछ में निर्णायक टोली का बम से कोई लेना-देना नहीं पाया गया। वहीं पुलिस ने कार चालक आशियाना निवासी रंजीत को गिरफ्तार कर लिया। कार चालक ने बताया कि गुरुवार को उसके साले अरुण की शादी थी। शादी के दौरान ही आतिशबाजी के लिए बम व पटाखे खरीदे गए थे और उसकी कार में रखे गए थे। बरामद तीनों बम भी उसी दौरान शादी में प्रयोग करने के लिए खरीदने की बात चालक ने बताई है।


Check Also

प्रदूषित हुआ लखनऊ : AQI पंहुचा 346

लखनऊ शुक्रवार को देश का सबसे अधिक प्रदूषित शहर रहा। राजधानी का एक्यूआई 346 रिकॉर्ड …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *