Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> टीम इंडिया ने विश्व कप में फिर तोड़ा पाकिस्तान का दिल

टीम इंडिया ने विश्व कप में फिर तोड़ा पाकिस्तान का दिल


india_won
एडिलेड,(एजेंसी) 15 फरवरी । फॉर्म में लौटे विराट कोहली के शतक के बाद मोहम्मद शमी की अगुआई में गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन से भारत ने विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ जीत सिलसिले को जारी रखते हुए आज यहां ग्रुप बी मैच में 76 रन की जीत के साथ आगाज किया.

विश्व कप में पाक के खिलाफ छह मैचों में यह भारत की छठी जीत है. वर्ष 1992 में ऑस्ट्रेलिया में हुए विश्व कप के साथ शुरू हुई इस प्रतिद्वंद्विता में हमेशा भारतीय टीम अव्वल साबित हुई है.

विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ शतक जमाने वाले पहले भारतीय बने कोहली की 126 गेंद में आठ चौकों की मदद से 107 रन की पारी के अलावा सुरेश रैना (74) और शिखर धवन (73) के उम्दा अर्धशतकों की मदद से भारत ने सात विकेट पर 300 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया. इसके जवाब में पाकिस्तान की टीम शमी (35 रन पर चार विकेट), मोहित शर्मा (35 रन पर दो विकेट) और उमेश यादव (50 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने 47 ओवर में 224 रन पर ढेर हो गई. पाकिस्तान की ओर से कप्तान मिसबाह उल हक ने सर्वाधिक 76 रन बनाए जबकि अहमद शहजाद ने 47 रन की पारी खेली. भारत को अपने अगले मैच में 22 फरवरी को मेलबर्न में दक्षिण अफ्रीका से भिड़ना है जबकि पाकिस्तान को इससे एक दिन पहले क्राइस्टचर्च में वेस्टइंडीज का सामना करना है.

लक्ष्य का पीछा करने उतरे पाकिस्तान की शुरूआत खराब रही और उसने चौथे ओवर में ही अनुभवी बल्लेबाज यूनिस खान (06) का विकेट गंवा दिया जिन्होंने शमी की शॉर्ट गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को कैच थमा दिया.

शहजाद और हैरिस सोहेल (36) ने दूसरे विकेट के लिए 68 रन जोड़कर पारी को संभालने की कोशिश की. हैरिस शुरू से ही लय में दिखे मगर शहजाद को शुरू में जूझना पड़ा. हैरिस ने यादव के ओवर में तीन चौकों के साथ अपने तेवर दिखाए जिसके बाद धोनी ने इस तेज गेंदबाज को आक्रमण से हटा दिया. शहजाद ने भी मोहित पर दो चौके मारे लेकिन आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने हैरिस को स्लिप में रैना के हाथों कैच कराके पाकिस्तान को तीसरा झटका दिया.

पाकिस्तान ने 23वें ओवर में रनों का शतक पूरा किया. धोनी ने इसके बाद यादव को दूसरे स्पैल को बुलाया और उन्होंने अपने दूसरे ओवर में शहजाद और शोएब मकसूद (00) को तीन गेंद के भीतर आउट करके पाकिस्तान को दोहरा झटका दिया. शहजाद ने यादव की शॉर्ट गेंद पर जडेजा को कैच थमाया जबकि मकसूद का कैच स्लिप में रैना ने लपका. जडेजा ने अगले ओवर में उमर अकमल (00) को धोनी के हाथों कैच कराके पाकिस्तान का स्कोर पांच विकेट पर 103 रन किया. अकमल को मैदानी अंपायर रिचर्ड कैटलब्रा ने नॉट आउट करार दिया था लेकिन धोनी ने रैफरल मांगा और तीसरे अंपायर ने पाकिस्तानी बल्लेबाज को आउट दे दिया.

पाकिस्तान की उम्मीदें अब कप्तान मिसबाह और शाहिद अफरीदी के रूप में अपने दो सबसे अनुभवी बल्लेबाजों पर टिकी थी. अफरीदी ने आते ही जडेजा की गेंद को मिडविकेट पर छह रन के लिए भेजा.

अफरीदी हालांकि कोई कारनामा नहीं कर पाए. वह शमी की गेंद को हवा में लहरा गए जिस पर पीछे की ओर दौड़ते हुए कोहली ने शानदार कैच लपका. अफरीदी ने 22 गेंद में 22 रन बनाए. शमी ने इसी ओवर में वहाब रियाज (04) को भी धोनी के हाथों कैच कराया.

पाकिस्तान ने इससे पहले 33वें ओवर में पावर प्ले लिया और पांच ओवर में 44 रन बने लेकिन इस दौरान टीम ने अफरीदी और रियाज के विकेट गंवाए. मिसबाह ने इस बीच शमी की गेंद पर दो रन के साथ 55 गेंद में अपना 39वां अर्धशतक पूरा किया. मिसबाह ने यासिर शाह (13) के साथ आठवें विकेट के लिए 49 रन जोड़े. मोहित ने यासिर को आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा. पाकिस्तान को अंतिम 10 ओवर में जीत के लिए 107 रन की दरकार थी.

शमी ने इसके बाद मिसबाह को रहाणे के हाथों कैच कराके पाकिस्तान को नौवां झटका दिया. उन्होंने 84 गेंद की पारी में नौ चौके और एक छक्का मारा. मोहित ने सोहेल खान (07) को यादव के हाथों कैच कराके भारत की जीत की औपचारिकता पूरी की.

इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरे भारत की ओर से कोहली ने एडिलेड ओवल के अपने पसंदीदा मैदान पर शतक जड़कर फॉर्म में वापसी की. पाकिस्तान के युवा तेज गेंदबाज सोहेल (55 रन पांच विकेट) ने डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की जिससे भारत अंतिम पांच ओवर में सिर्फ 27 रन ही जोड़ पाया.

कोहली ने इस पारी के दौरान 22वां शतक जड़ा और सौरव गांगुली की बराबरी करते हुए भारत की ओर से वनडे में दूसरे सबसे अधिक शतक जड़ने वाले खिलाड़ी बने. भारत की ओर से सबसे अधिक 49 शतक का रिकार्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है. इस पारी के दौरान कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर के तेंदुलकर (98) के रिकॉर्ड को भी तोड़ा.

कोहली ने धवन और रैना के साथ मिलकर पाकिस्तान के गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ाई. धवन और कोहली ने टीम की रन गति बढ़ाई जबकि रैना ने अंतिम ओवरों में तेजी से बल्लेबाजी की. रैना ने 56 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और तीन छक्के मारे.

पाकिस्तान को सात फीट एक इंच लंबे तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान से काफी उम्मीद थी लेकिन वह नाकाम रहे. उन्होंने 10 ओवर में 56 रन खर्च किए जबकि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला. कोहली ने अपने पहले 50 रन 60 जबकि दूसरे 50 रन 59 गेंद में बनाए. उन्होंने धवन के साथ दूसरे विकेट के लिए 129 रन की पारी खेली. धवन ने 76 गेंद की अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का मारा.
kohli_century3
धवन और कोहली की साझेदारी ने भारतीय पारी को ठोस आधार मुहैया कराया जबकि कोहली और रैना ने 15.3 ओवर में 110 रन जोड़कर रन गति में इजाफा किया और टीम मजबूत स्कोर तक पहुंचने में सफल रही. कोहली को तेज गेंदबाज सोहेल ने विकेटकीपर उमर अकमल के हाथों कैच कराया लेकिन वह तब तक अपने काम को अंजाम दे चुके थे.

कोहली ने सोहेल पर पुल शाट से चौके के साथ शुरूआत की और इसके बाद उन्हें शाहिद अफरीदी पर भी पैडल स्वीप से चौका जड़ा. उन्होंने लेग स्पिनर यासिर शाह और बायें हाथ के स्पिनर हैरिस सोहेल के खिलाफ कदमों का शानदार इस्तेमाल किया. उन्हें 76 रन निजी स्कोर पर हैरिस की गेंद पर विकेटकीपर ने जीवनदान दिया.

दूसरी तरफ धवन इरफान और सोहेल दोनों के खिलाफ आश्वस्त दिखे. उन्होंने सोहेल पर स्क्वायर कट के साथ चौका जड़ा जबकि इरफान की शार्ट गेंद को हुक करके चार रन के लिए भेजा. पकिस्तान के गेंदबाजों ने आफ स्टंप पास आउटस्विंग नहीं कराने की गलती की. अनुभवी वहाब रियाज ने भी शार्ट गेंद फेंकने की रणनीति अपनाई जिससे धवन को कोई परेशानी नहीं हुई.

धवन हालांकि कोहली के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए.


Check Also

दुखद : महेंद्र सिंह धोनी के मेंटर और रांची क्रिकेट के भीष्म पितामह देवल सहाय का निधन

महेंद्र सिंह धोनी के मार्गदर्शक कहलाए जाने वाले देवल सहाय का 73 साल की उम्र में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *