Home >> Exclusive News >> UP के हर जिले में होगा स्वाइन फ्लू का मुफ्त इलाज

UP के हर जिले में होगा स्वाइन फ्लू का मुफ्त इलाज


images (1)
लखनऊ,(एजेंसी) 16 फरवरी । उत्तर प्रदेश के हर जिले में अब स्वाइन फ्लू के मरीजों का मुफ्त इलाज होगा। प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों, केजीएमयू, पीजीआई और राजकीय मेडिकल कॉलेजों में इलाज मुहैया करवाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वाइन फ्लू से निपटने की तैयारी की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने ये निर्देश दिए हैं। मरीजों को जिले में ही इलाज मिल सके, इसके लिए जरूरी दवाइयां सभी जिला अस्पतालों में मौजूद रहेंगी।

सीएम ने कहा है कि जहां स्वाइन फ्लू के मामले सामने आएं, वहां विशेषज्ञों की टीम भेजी जाए। अस्पतालों में अलग वार्ड की व्यवस्था करने और इलाज कर रहे डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को पी.पी.ई किट और एन-95 मास्क देने के निर्देश भी दिए गए हैं। स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग जागरूकता अभियान भी चलाएगा। प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थानों में कैंप लगाकर लोगों को इसके लक्षणों और बचाव के बारे में बताया जाएगा। विभाग की वेबसाइट पर भी बचाव और दूसरी जानकारियां दी जाएंगी।

राजस्थान से मंगाई टैमीफ्लू
स्वास्थ्य विभाग ने राजस्थान से टैमी फ्लू की करीब 90,000 गोलियां मंगवाई हैं। 75 एमजी की 50,000 गोलियां, 45 एमजी की 20,000 और 30 एमजी की 20,000 गोलियां मंगलवार तक यहां आ जाएंगी। इसके बाद इन दवाइयों को जिलों में भेजा जाएगा।

छुट‌्टी के दिन खुलेंगी लैब
मरीजों के मुफ्त इलाज के साथ ही स्वाइन फ्लू की टेस्टिंग लैब की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। फिलहाल राजकीय मेडिकल कॉलेज आगरा, मेरठ, झांसी, गोरखपुर, अंबेडकर नगर और सैफई में टेस्टिंग लैब बनेंगी। जब तक दूसरे शहरों में लैब की व्यवस्था नहीं होती, तब तक केजीएमयू और पीजीआई की लैब छुट्टी के दिन भी खुलेंगी। अब तक स्वाइन फ्लू की जांच पीजीआई, केजीएमयू और दिल्ली स्थित एन.डी.सी लैब में होती है।

विधायक के बेटे सहित 12 नए मरीज
शहर में रविवार को स्वाइन फ्लू के 12 नए मरीज सामने आए। इनमें से एक पीजीआई के डॉक्टर के पिता हैं और एक अन्य मरीज मीराबाई मार्ग स्थित विधायक निवास में रहने वाले विधायक का बेटा है। रश्मिखंड, रजनीखंड, विश्वास खंड, ब्रह्म नगर (डालीगंज), सरस्वतीपुरम (रायबरेली रोड), एलडीए कॉलोनी (कानपुर रोड) में एक-एक मरीज मिला है। अलीगंज में चार मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। इनमें से तीन सेक्टर-के में एक ही परिवार के हैं। एक अन्य मरीज सेक्टर-जे का है।


Check Also

योगी जी के गोरखपुर का असली नवरत्न है पवन गुप्ता

एक ही जगह अगर आपको 195 देशों की करेंसी और डाक टिकट मिल जाए तो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *