Wednesday , 2 December 2020
Home >> Breaking News >> पेट्रोलियम मंत्रालय में कॉरपोरेट जासूसी का भंडाफोड़, पांच अरेस्ट

पेट्रोलियम मंत्रालय में कॉरपोरेट जासूसी का भंडाफोड़, पांच अरेस्ट


images (6)

नई दिल्ली,(एजेंसी) 20 फरवरी । पेट्रोलियम मंत्रालय से अहम सरकारी दस्तावेज चुराकर उन्हें पेट्रोकेमिकल और एनर्जी सेक्टर की कुछ प्राइवेट कंपनियों को बेचने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को पांच लोगों को अरेस्ट किया। कॉरपोरेट जासूसी के इस मामले में दबोचे गए लोगों में दो जूनियर सरकारी कर्मचारी, दो रिटायर्ड ऑफिशियल्स और एक ड्राइवर शामिल हैं।

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के एक कर्मचारी सहित कुछ अन्य लोगों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है और उनसे पूछताछ चल रही है। सूत्रों ने बताया कि इनमें एक पत्रकार भी है। पुलिस ने कई कंपनियों के कार्यालयों पर छापे मारे। आरआईएल के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि उसके एक कर्मचारी को हिरासत में लिया गया है। इस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, ‘हमें बताया गया है कि लॉ-एन्फोर्समेंट अथॉरिटीज ने एक कर्मचारी को हिरासत में लिया है। हमारे पास और जानकारी नहीं है। हम आंतरिक जांच कर रहे हैं। कानून के मुताबिक मामले की हो रही जांच में हम हरसंभव तरीके से सहयोग करेंगे। सभी अहम मामलों पर हमारा उस मंत्रालय से पहले ही इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन चल रहा है।’
download (10)
पेट्रोलियम और नेचुरल गैस मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, ‘सरकार जांच करेगी कि किस तरह के डॉक्युमेंट्स लीक हुए और किन लोगों को इनसे फायदा हो सकता है। ऐसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’ दिल्ली पुलिस कमिश्नर बी एस बस्सी ने कहा कि पुलिस ने ‘पता लगा लिया है’ कि इन दस्तावेजों को किन लोगों तक पहुंचाया जाना था। उन्होंने कहा, ‘हमने उन्हें पकड़ लिया है और उनसे पूछताछ हो रही है।’

दिल्ली पुलिस के ऑफिशियल स्टेटमेंट में एनर्जी सेक्टर की कंपनियों पर अंगुली उठाई गई। इस बयान में कहा गया, ‘जांच से पता चला है कि चुराए गए दस्तावेज प्राइवेट एनर्जी कंसल्टेंसी कंपनियों और पेट्रोकेमिकल/एनर्जी सेक्टर की कुछ कंपनियों के लोगों को बेचे जा रहे थे।’ प्रधान ने कहा, ‘पहले तो डॉक्युमेंट्स धड़ल्ले से इधर-उधर किए जाते थे। नई सरकार की नजर हर चीज पर है और इसने सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं।’ बस्सी ने हाई-टेक साजिश का संकेत देते हुए कहा कि आरोपी फर्जी पहचान पत्रों और डुप्लिकेट चाबियों के जरिये देर रात पेट्रोलियम मिनिस्ट्री में घुसने से पहले शास्त्री भवन के सीसीटीवी कैमरों को निष्क्रिय कर देते थे।


Check Also

दिल्ली के जंतर मंतर के यंत्रों में नहीं घुस पाएंगे पर्यटक, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने दिए सख्त आदेश

राष्ट्रीय स्मारकों में शुमार दिल्ली के जंतर मंतर के यंत्रों को यहां आने वाले पर्यटक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *