Home >> Exclusive News >> यू पी में बोर्ड एग्जाम में छाया रहा नकल का कारोबार

यू पी में बोर्ड एग्जाम में छाया रहा नकल का कारोबार


23_02_2015-ex1
लखनऊ,(एजेंसी) 23 फरवरी । प्रशासनिक लापरवाही के चलते यूपी बोर्ड की परीक्षा अव्यवस्था के भेंट चढ़ती नजर आ रही है। इलाहाबाद में जिलाधिकारी के निर्देश के बावजूद अधिकतर परीक्षा केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती अभी तक नहीं हो पायी। जहां तैनात भी हैं वहां बाहर ड्यूटी करने के बजाय प्रधानाचार्य के कमरे में बैठकर मेहमान नवाजी कराते हैं। इसके चलते न नकल रुक रही है। न केंद्र व्यवस्थापक व प्रधानाचार्यों की मनमानी। इसकी झलक सोमवार को प्रथम पाली में हाईस्कूल विज्ञान की परीक्षा में दिखी। इसमें बाबू कक्ष निरीक्षक बनकर नकल कराते नजर आया।

यूआरआर पाल उत्तर माध्यमिक विद्यालय कुसुगुर गारापुर का बाबू छेदीराम पाल बिन नियुक्ति के कक्ष निरीक्षक बनकर परीक्षार्थियों को बोलकर नकल करा रहा था। टीम ने उसे पकड़ा तो वह भड़क गया। बोला ‘यह मेरा विद्यालय है जो चाहूंगा करूंगा। मुझे कोई रोक नहीं सकता, बोलकर वहां से भाग निकला। कुछ ऐसी ही स्थिति दूसरे विद्यालयों में रही। वीडियो रिकार्डिंग न होने व स्टेटिक मजिस्ट्रेट के न होने का फायदा गंगापार व यमुनापार के विद्यालयों में जमकर उठाया जा रहा है। हर जगह जमकर नकल कराई जा रही है।

-महर्षि दुर्वासा इंटरमीडिएट कालेज ककरा गांव : यहां विद्यालय के बाहर नकल कराने वालों की भारी भीड़ जमा रही। टीम के पहुंचने पर भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। कक्षा के अंदर परीक्षार्थियों को सचेत कर दिया गया। इसके बावजूद उडऩदस्ते की टीम ने यहां से नकल सामग्री के साथ परीक्षार्थियों को पकड़ा।

सीएसपी इंटर कालेज यरना : विद्यालय परिसर में शांतिपूर्ण माहौल में परीक्षा चल रही थी। पुलिसकर्मी के तैनात होने से बाहरी दबाव नहीं था। कक्षा के अंदर कक्ष निरीक्षक सतर्क नजर आए।

मोतीलाल नेहरू इंटर कालेज जमुनीपुर : परिसर के बाहर लोगों का भारी हुजूम रहा। वह अंदर प्रवेश करने का प्रयास कर रहे थे। लेकिन सफलता नहीं मिल पायी। हां, अंदर परीक्षार्थियों को पूंछताछ करने की खुली छूट जरूर मिली थी।
प्रियदर्शिनी बालिका इंटर कालेज जमुनीपुर : यहां स्टेटिक मजिस्ट्रेट चेहरा दिखाकर चले गए। वीडियो रिकार्डिंग की कोई व्यवस्था नहीं थी।

फिरोज गांधी इंटरमीडिएट कालेज गारापुर व बाबू जेआरडी पाल इंटर कालेज मनसैता थरवई : यहां बाहर से कड़ाई नजर आयी। परंतु अंदर परीक्षार्थी आपस में पूंछताछ करते नजर आए। कक्ष निरीक्षक मूकदर्शक बने रहे। सुरक्षा की यहां कोई व्यवस्था नहीं थी।


Check Also

बढ़ती ठंड में कोरोना का संक्रमण और भी अधिक घातक होने की संभावना है : यूपी केबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना

यूपी के वित्त एवं संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *