Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> ‘आप’ की पीएसी से प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की हो सकती है छुट्टी

‘आप’ की पीएसी से प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की हो सकती है छुट्टी


prashant_bhushan_KEJRIWAL
नई दिल्ली,(एजेंसी) 02 मार्च । दिल्ली में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली आम आम आदमी पार्टी के भीतर कलह बढ़ता ही जा रहा है। राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) से प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की छुट्टी हो सकती है। इसका एलान जल्द हो सकता है।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में कुछ नेताओं के साथ योगेंद्र यादव की बहस भी हो गई। इस बैठक में दिल्ली चुनाव में योगेंद्र यादव भूमिका को लेकर सवाल उठाए गए।

दिलीप पांडे की चिट्ठी लीक
अब आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता को चिट्ठी लिखकर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की शिकायत की है।

इस चिट्ठी में दिलीप पांडे ने लिखा है, ‘2014 के लोकसभा चुनाव से पहले योगेंद्र यादव के पीए विजय रमण ने पार्टी के अहम सदस्य सत्या को फोन किया। विजय ने सत्या से कहा कि आप की कोर टीम में शामिल करने के लिए योगेंद्र यादव उनका इंटरव्यू लेना चाहते हैं। जब सत्या रमण से मिलने गए तब उन्हें बताया गया कि केजरीवाल में संयोजक बने रहने की राजनीतिक क्षमता नहीं है। रमण ने सत्या से कहा कि केजरीवाल को हटाकर योगेंद्र यादव को राष्ट्रीय संयोजक बनाए जाने की जरूरत है। सत्या ये सुनकर चौक गए. सत्या ने इस बात की सूचना पार्टी के बड़े नेताओं को दी और बताया कि योगेंद्र यादव किस तरह केजरीवाल के खिलाफ साजिश रच रहे हैं।’

चिट्ठी में दिलीप पांडे ने लिखा है कि लोकसभा चुनाव में बड़ी हार के बाद कई घटनाओं से पता चलता है कि प्रशांत, शांति भूषण और योगेंद्र ने केजरीवाल के खिलाफ साजिश रची। दिलीप पांडे ने लिखा है, ‘जुलाई में नेशनल पॉलिसी कमेटी की बैठक में आशीष खेतान को भी भड़काया गया। शांति भूषण ने खेतान से कहा कि केजरीवाल को संयोजक पद से हटाने का बढ़िया तरीका ये है कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बन जाए। दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनेगी तो केजरीवाल नेता विपक्ष बनेंगे और तब फिर हम लोग एक व्यक्ति एक पद की मांग तेज करेंगे।’

योगेंद्र यादव की प्रतिक्रिया
इन्हीं खबरों के बीच योगेंद्र यादव अब आम आदमी पार्टी के बचाव में उतर आए हैं। योगेंद्र यादव ने आज सुबह सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर जो भी खबरें चल रही हैं वह मनगढ़ंत और बेतुकी हैं।

योगेंद्र यादव ने फेसबुक पर लिखा है, ‘पिछले दो दिन से प्रशांत जी और मेरे बारे में चल रही खबरें सुन रहा हूँ, पढ़ रहा हूँ। नयी नयी कहानियाँ गढ़ी जा रही हैं, आरोप मढ़े जा रहे हैं, षड्यंत्र खोजे जा रहे हैं। ये सब पढ के हंसी भी आती है और दुःख भी होता है। हंसी इसलिए आती है कि कहानियां इतनी मनगढ़ंत और बेतुकी हैं।’

योगेंद्र यादव ने आगे लिखा है,’ लगता है कहानी गढ़ने वालों के पास टाईम कम होगा और कल्पना ज़्यादा। लेकिन, इन आरोपों और कहानियों की नीयत को देखकर दुःख होता है। दिल्ली की जनता ने हमें इतनी बड़ी जीत दी है। आज का ये वक़्त बड़ी जीत के बाद, बड़े मन से, बड़े काम करने का है। देश ने हमसे बड़ी उम्मीदें लगायी है। मैं यही अपील कर सकता हूँ कि हम अपनी छोटी हरकतों से अपने आप को और इस आशा को छोटा न होने दें। बस सद्बुद्धि की प्रार्थना कर सकता हूँ।’

आपको बता दें कि पिछले हफ्ते हुए आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राष्ट्रीय संयोजक पद से हटने का प्रस्ताव रखा जिसे एकमत से खारिज कर दिया गया। इसके बाद प्रशांत भूषण ने प्रस्ताव रखा कि सरकार में अरविंद केजरीवाल को बहुत काम रहेगा इसलिए योगेंद्र यादव को राष्ट्रीय संयोजक बनाया जाए। इस प्रस्ताव को भी एकमत से खारिज कर दिया गया।


Check Also

भारत ने सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस लैंड अटैक वर्जन का सफल परीक्षण किया

भारत ने अपनी सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस के लैंड अटैक वर्जन का आज सफल परीक्षण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *