Home >> Breaking News >> बलात्कार के आरोपी को करीमगंज में दफनाया गया, नगालैंड में 22 गिरफ्तार

बलात्कार के आरोपी को करीमगंज में दफनाया गया, नगालैंड में 22 गिरफ्तार


68345-nagaland-lynch
कोहिमा/गुवाहाटी ,(एजेंसी) 09 मार्च । नगालैंड के दीमापुर शहर में रविवार को कर्फ्यू लगा दिया गया जहां बलात्कार के आरोपी को भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या कर दिए जाने के सिलसिले में 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया। वहीं, प्रदर्शनों से असम के कई हिस्से दहल गए और बराक घाटी में 12 घंटे का बंद रहा।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) जी अखेतो सीमा ने बताया कि शांति कायम रखने के लिए दीमापुर शहर में दोपहर तीन बजे से रात 12 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया गया।

नृशंस हत्या के मोबाइल वीडियो फुटेज के आधार पर कल शाम से गिरफ्तारियां की गई। इस घटना में बलात्कार के आरोपी सैयद फरीद खान को जेल से खींच कर निकाला गया और दीमापुर में पीट..पीट कर मार डाला गया।

करीमगंज के उपायुक्त संजीव गोहैन बरूआ ने बताया कि खान को सख्त सुरक्षा के बीच आज करीमगंज जिले के बोसला गांव में दफन कर दिया गया। काफी संख्या में लोग पूर्व मंत्री एवं करीमगंज (दक्षिण) विधायक सिद्दिकी अहमद मौजूद थे।

खान का शव कल शाम करीमगंज लाया गया जिसे नगालैंड के अधिकारियों ने दीमापुर मुस्लिम काउंसिल को सौंपा था। जिले से आई आधिकारिक खबरों में बताया गया है कि कई राजनीतिक, सामाजिक और व्यवसायिक संगठनों के असम में बराक घाटी को बंद किए जाने के आह्वान के चलते तमाम दुकानें और बाजार बंद रहे जबकि सड़कों पर वाहन भी नहीं दिखे।

अधिकारियों ने बताया कि हालांकि करीमगंज, कछार और हैलाकांडी जिलों से कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है जहां बंद रहा। कथित बलात्कार की घटना से जुड़ी मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है।

बलात्कार के आरोपी की दीमापुर में पीट..पीट कर हत्या किए जाने से जुड़ा वीडियो इंटरनेट पर आने के बाद नगालैंड सरकार ने राज्य में 48 घंटे के लिए इंटरनेट पर पाबंदी लगा दी जो कल रात से शुरू हुआ। सरकार का आदेश आज स्थानीय अखबारों में प्रकाशित हुआ जिसमें मोबाइल सेवा प्रदाताओं से एसएमएस या एमएमएस सेवाएं बंद करने का निर्देश दिया गया।

असम के रहने वाले सैयद फरीद खान की दीमापुर में मोटर पार्ट्स की एक दुकान थी। उसे दीमापुर में एक महिला से बलात्कार करने के संदेह में 24 फरवरी को गिरफ्तार किया गया और अगले दिन दीमापुर केंद्रीय कारागार में न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

पांच मार्च को भीड़ जेल में घुस गई, उसे खींच कर बाहर निकाल लिया, उसकी पिटाई की, उस पर पत्थर मारे और उसे सात किलोमीटर दूर दीमापुर शहर के केंद्र की ओर ले जाया गया। रास्ते में चोट के चलते उसकी मौत हो गई।


Check Also

श्रद्धांजलि : चंकी चाट का मसाला चने का मसाला : ग्राफिक्स डिजाइनर वरुण टंडन ने धर्मपाल गुलाटी की बेहतरीन तस्वीर तैयार की

मसाला किंग धर्मपाल गुलाटी के निधन के बाद उनके चाहने वाले अपने-अपने तरीके से उन्हें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *