Sunday , 16 December 2018
खास खबर
Home >> Walk the Talk >> जेब में डेबिट कार्ड रखने का झंझट होगा खत्म, बिना ATM के ही निकलेगा कैश

जेब में डेबिट कार्ड रखने का झंझट होगा खत्म, बिना ATM के ही निकलेगा कैश


अगर आप भी अक्सर ATM कार्ड ले जाना भूल जाते हैं या फिर कैश निकालने के बाद आमतौर पर आपका डेबिट कार्ड एटीएम मशीन में ही छूट जाता है तो यह खबर आपको राहत देगी. अब जल्द ही लोग एटीएम मशीन से एक क्यूआर कोड को स्कैन कर कैश निकाल सकते हैं. जी हां, इसके लिए आपको किसी भी तरह से डेबिट कार्ड को स्वैप करने की जरूरत नहीं होगी. क्यूआर कोड को मशीन की स्क्रीन की मदद से स्कैन किया जाएगा. यह सबु मुमकिन होगा यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) बेस्ड सॉल्यूशन से.

एजीएस ट्रांजेक्ट टेक्नोलॉजी ने बनाया यह सिस्टम
टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के अनुसार यूपीआई प्लेटफॉर्म आधारिक इस सिस्टम को एजीएस ट्रांजेक्ट टेक्नोलॉजी ने बनाया है. एजीएस अभी बैंकों को एटीएम सर्विस मुहैया कराती है. बिना एटीएम कार्ड के मशीन से कैश निकालने के लिए अकाउंट होल्डर के पास मोबाइल एप्लीकेशन का सब्सक्रिप्शन होना जरूरी है, जो पहले से ही UPI बेस्ड है. इसके बाद UPI पेमेंट करने के लिए यूजर को QR कोड को स्कैन करना होगा.

इंफ्रास्ट्रक्चर में ज्यादा बदलाव की जरूरत नहीं
यह टेक्नीक उसी तरह काम करेगी जैसे यूपीआई के माध्यम से भुगतान किया जाता है. खबर के अनुसार एजीएस ट्रांजेक्ट की तरफ से कहा गया कि बैंक इस सर्विस को शुरू करने पर विचार कर रहे हैं. इस सर्विस को शुरू करने के लिए बैंकों को ज्यादा खर्चा करने और अपने इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. इस सर्विस को शुरू करने के लिए एटीएम में एक सॉफ्टवेयर अपग्रेड करना होगा.

अभी इस सर्विस को नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) से मंजूरी मिलनी बाकी है. AGS का कहना है कि कंपनी ने इस तकनीक का परीक्षण पहले ही कर लिया है. इस फीचर के बारे में जब बैंकों को जानकारी दी गई तो बैंक इसे लेकर काफी उत्साहित हुए. रिपोर्ट के अनुसार सेकेंड जेनरेशन UPI 2.0 से मशीन से कैशन निकालना पहले से काफी आसान हो जाएगा.


Study Mass Comm