Home >> Exclusive News >> किसानों पर आफत की बरसात

किसानों पर आफत की बरसात


download
लखनऊ,(एजेंसी) 15 मार्च । बेमौसम बारिश किसानों पर आफत बनकर टूट पड़ी। 40 किलोमीटर की रफ्तार से चली हवा आम की बौर के लिए मुसीबत बन गई और माहौल में ठंडक बढ़ गई। फसलों की दुर्दशा देख किसान सदमें में हैं और उनकी मौत तक हो रही है।

भारी पड़ेगा हवा का वेग: पश्चिमी विक्षोभ 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आया है। इसके साथ ही बारिश शुरू हो गई। आम के पेड़ों पर आई बौर के लिए यह बड़ा खतरा है। दिन में तेजी से बौर गिरी। इसी तरह दलहन और तिलहन के साथ गेहूं के लिए यही मुश्किलें बनी हुई हैं।

मैनपुरी में किसान ने तोड़ा दम: जिले के बरनाहल थाना क्षेत्र के औरंगाबाद में अचानक आई बारिश से आलू की बर्बादी होते देख किसान का दिल ऐसा बैठा कि धड़कनें ही बंद हो गईं। खेत पर आलू के बोरे भरते समय किसान ने दम तोड़ दिया।

केदारनाथ, बदरीनाथ और औली में बर्फबारी: उत्तराखंड के केदारनाथ में बर्फबारी के साथ निचले इलाकों में बारिश हुई। रविवार को केदारनाथ में सुबह 6 बजे से बर्फबारी शुरू हुई जो देर रात तक जारी रही। केदारनाथ में सुबह तापमान माइनस 2 डिग्री सेल्सियस रहा।

बिहार में तेज आंधी, बारिश ने बढ़ाई ठंड: बिहार में तेज धूल भरी आंधी और बारिश से ठंड लौट आई है। एकाएक मौसम में आये बदलाव के कारण अधिकतम व न्यूनतम तापमान में दो-तीन डिग्री.से. की गिरावट आ गई। सोमवार को भी दक्षिण-पूर्व बिहार में बारिश होने की संभावना है।

बदल रहा बारिश का पैटर्न
इन दिनों उत्तर भारत में हो रही बारिश पश्चिमी विक्षोभों के परिणाम स्वरूप है। पूर्वी मेडिटेरियन सागर से उत्पन्न होने वाले ये विक्षोभ 25-35 डिग्री अक्षांश पर उत्तर-पूर्व की दिशा में गुजरते हैं। कश्मीर 29 डिग्री अक्षांश पर है। हाल के रुझान बता रहे हैं कि ये विक्षोभ निचले अक्षांश की तरफ ज्यादा झुक रहे हैं। कभी-कभी यह 25 डिग्री अक्षांश से भी और नीचे आ जाते हैं जिससे समूचे उत्तर भारत को भिगो देते हैं।


Check Also

कृषि बिल: सिंघु बॉर्डर पर किसानों की बढ़ी संख्या, हाईवे पर लगाया टेंट, बैरिकेड के पास बन रहा खाना

3 केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में सिंघु बॉर्डर पर छठे दिन भी किसानों का प्रदर्शन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *