Home >> Exclusive News >> आरक्षण के हकदार हैं जाट: अजित सिंह

आरक्षण के हकदार हैं जाट: अजित सिंह


newajeet~18~03~2015~1426657796_storyimage (1)

मेरठ,(एजेंसी) 18 मार्च । रालोद अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने मंगलवार को जाट आरक्षण खत्म करने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। साथ ही कहा कि जाट आर्थिक और सामाजिक तौर पर आरक्षण के हकदार हैं। इसके लिए हम कानूनी लड़ाई के साथ आंदोलन भी करेंगे। उन्होंने कहा कि देश में अब तक जाति आधारित आरक्षण ही दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर देखेंगे कि आखिर कहां कमी रह गई।

हिन्दुस्तान से बातचीत में चौधरी अजित सिंह ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का फैसला सबको मानना होगा। अभी उन्होंने फैसला पढ़ा भी नहीं। पर जो बातें अब तक सामने आई हैं उनसे दो तीन बुनियादी सवाल उठ रहे हैं। एक तो यह कि शिक्षा के आंकड़े पुराने होने की बात है। देश में मंडल कमीशन के लिए तो 1978 में सर्वे हुआ था। उन्हीं आंकड़ों पर 1993 में आरक्षण दिया गया। दूसरा जाति के आधार पर आरक्षण की बात है तो देश में सभी को जाति के आधार पर आरक्षण मिला है। अजित सिंह ने कहा कि जाट आरक्षण बिल में कमी या यूपीए सरकार ने इसे ठीक से लागू किया या नहीं, जैसे सवालों का जवाब फैसला पढ़ने के बाद ही दिया जा सकता है। फिलहाल फैसले पर पुर्नविचार याचिका दाखिल करने और जनता के बीच आंदोलन का रास्ता खुला है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार को भी तथ्यों को मजबूती से रखते हुए इस मुद्दे की पैरवी करनी चाहिए थी। चौधरी अजित सिंह ने कहा कि देश भर के जाटों को केंद्र में आरक्षण खत्म होने से आर्थिक-सामाजिक तौर पर भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। आरक्षण खत्म होने से लोगों में दुख और नाराजगी है।

कानूनी लड़ाई लड़ेंगे: युद्धवीर: अखिल भारतीय जाट महासभा के राष्ट्रीय महासचिव चौधरी युद्धवीर सिंह ने कहा कि जाट आरक्षण के फैसले पर तथ्यों एवं कानून के आधार पर अपील की जाएगी।


Check Also

देश के किसानों की आवाज को दबाया नहीं जा सकता : पंजाब के CM कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से अपील की है कि वो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *