Wednesday , 21 October 2020
Home >> In The News >> गोवा में अल्पसंख्यक करीब 40 फीसदी इसलिए बीफ पर नहीं लगेगी पाबंदी: मुख्यमंत्री

गोवा में अल्पसंख्यक करीब 40 फीसदी इसलिए बीफ पर नहीं लगेगी पाबंदी: मुख्यमंत्री


goa laxmikant new cm

गोवा,(एजेंसी) 20 मार्च । बीफ पर पाबंदी को लेकर लगातार पक्ष और विपक्ष सामने आ रहा है। हाल ही में बीजेपी शासित महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में गोहत्या पर पाबंदी लगाई है। जिसका कुछ लोग विरोध कर रहे हैं तो कुछ समर्थन में हैं।

महाराष्ट्र के पड़ोसी राज्य गोवा में बीफ पर पाबंदी नहीं लगाई जाएगी। बीजेपी शासित गोवा सरकार के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने कहा है कि हम इस पर पाबंदी नहीं लगा सकते हैं।

बीफ पर बॉलीवुड में भी विरोध के स्वर उभरे थे। आपको बता दें कि बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर ने विवादित ट्वीट किया था. उन्होंने कहा, ‘मैं इससे गुस्से में हूं, कोई क्या खाता है, इसको उसके धर्म से क्यों जोड़ा जा रहा है। किसी के खाने-पीने पर कोई पाबंदी नहीं होनी चाहिए। ऋषि कपूर ने आगे लिखा ‘मैं एक हिंदू हूं और बीफ ईटर हूं। तो क्या इसका मतलब यह है कि मैं नॉन-ईटर से कम धार्मिक हूं।’

इधर पड़ोसी राज्य गोवा के मुखिया ने बीफ पर पाबंदी नहीं लगाने की खास वजह बताई है। उन्होंने कहा कि बीफ राज्य में अल्पसंख्यक समुदाय के खाने का अहम हिस्सा है। उनकी पार्टी को राज्य के ईसाइयों और मुसलमानों का भरोसा हासिल करने में कई साल लगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें यह नहीं मतलब है कि केंद्र क्या करता है। गोवा में अल्पसंख्यक 39-40 फीसदी हैं। अगर यह उनके खानपान का हिस्सा है और हम क्यों और कैसे इस पर पाबंदी लगा सकते हैं? लोगों खासतौर पर अल्पसंख्यकों के लिए बीफ उनके भोजन का हिस्सा है।

गोवा के मुख्यमंत्री ने कहा कि वह गोहत्या पर हिंदुओं के एक तबके की भावनाओं को समझते हैं। गायों को मारे जाने पर भावनाएं आहत होती हैं, न कि बैलों और सांडों के मारे जाने पर। हम गायों को मारने की इजाजत नहीं देते और यहां तक कि बैलों को भी यहां गोवा में नहीं मारा जाता है। बीफ कर्नाटक से लाकर यहां बेचा जाता है, तो मुझे लगता है कि इस पर पाबंदी नहीं लगाई जानी चाहिए। यह कैथोलिक ईसाइयों और मुसलमानों का खाना है।


Check Also

हम ठेठ बिहारी हैं जो कहते हैं वो करते हैं : तेजस्वी यादव

बिहार में 28 अक्तूबर को पहले चरण के लिए होने वाले मतदान से पहले तेजस्वी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *