Home >> Breaking News >> भारत-पाक वार्ता में तीसरे पक्ष के शामिल होने की कोई गुंजाइश नहीं :सरकार

भारत-पाक वार्ता में तीसरे पक्ष के शामिल होने की कोई गुंजाइश नहीं :सरकार


images
नई दिल्ली ,(एजेंसी) 21 मार्च । भारत ने शुक्रवार को कहा कि भारत-पाक के मुद्दों में तीसरे पक्ष के शामिल होने की कभी कोई गुंजाइश नहीं होगी वहीं यह भी कहा कि वह द्विपक्षीय वार्ता के जरिये जम्मू कश्मीर समेत सभी विषयों के समाधान के लिए प्रतिबद्ध हैं।

विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता सैयद अकबरद्दीन ने कहा, ‘‘हम पाकिस्तान के साथ जम्मू कश्मीर समेत द्विपक्षीय स्तर पर सभी मुद्दों को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और किसी तीसरे पक्ष के शामिल होने की कभी कोई गुंजाइश नहीं थी और न कभी होगी।’’ उनसे पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित और कश्मीरी अलगाववादी नेताओं के बीच बातचीत के बारे में पूछा गया था। 23 मार्च को पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस समारोह के लिए भी अलगाववादी नेताओं को आमंत्रित किया गया है।

अलगाववादी नेताओं को मिले निमंत्रण को सही ठहराते हुए बासित ने कहा था, ‘‘इसमें कुछ नयी बात नहीं है। हम समारोह में हमेशा अपने भारतीय और कश्मीरी दोस्तों को आमंत्रित करते हैं।’’ बासित ने हाल ही में अपनी कोलकाता यात्रा में पाकिस्तान के एक वाणिज्य दूतावास की स्थापना की बात की थी। इस बारे में पूछे जाने पर अकबरद्दीन ने कहा कि केंद्र सरकार की मंजूरी के बिना यह नहीं हो सकता और इस स्तर पर बातचीत के लिए कुछ नहीं है।

जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले में फिदायीन हमले के मुद्दे को पाकिस्तान के साथ उठाये जाने के सवाल पर प्रवक्ता ने कहा कि भारत आतंकवाद को लेकर अपनी चिंताएं पाकिस्तान के साथ उठाता रहा है और जब भी अवसर मिलेंगे, ऐसा करता रहेगा। कठुआ जिले के एक थाने में आज तड़के सेना की वर्दी में आये आतंकवादियों के एक फिदायीन दस्ते ने हमला बोल दिया जिसमें तीन सुरक्षाकर्मी मारे गये और 11 अन्य घायल हो गये।

जम्मू कश्मीर में एक मार्च को पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार बनने के बाद राज्य में यह पहला बड़ा आतंकवादी हमला था।


Check Also

बीजेपी के राज में देश की GDP गिर रही है, हम आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं : RJD नेता तेजस्वी यादव

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा, महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है। भाजपा के लोग प्याज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *