Home >> Breaking News >> सीमा पर ‘दहशतगर्दी का माहौल’ खत्म करे पाक : राजनाथ सिंह

सीमा पर ‘दहशतगर्दी का माहौल’ खत्म करे पाक : राजनाथ सिंह


Rajnath-Singh
नई दिल्ली ,(एजेंसी) 22 मार्च । भारत ने रविवार को पाकिस्तान से कहा कि वह सीमा पर आतंक का माहौल खत्म करे। साथ ही कहा कि नई दिल्ली अपने पड़ोसी देश के साथ दोस्ताना संबंध बनाए रखना चाहता है ।

पंजाब के अमृतसर में भारत और पाकिस्तान के बीच स्थित सीमा पारगमन केंद्र पर बीएसएफ के कार्यक्रम में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘पाकिस्तान को सोचना चाहिए कि दहशतगर्दी का माहौल कब तक जारी रहेगा। मैं पाकिस्तान से पूछना चाहता हूं कि आप कब तक सीमा को आतंकवाद से लाल रखना चाहते हैं? इसको खत्म किया जाना चाहिए।’ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के एक बयान को याद करते हुए सिंह ने कहा कि कोई अपना दोस्त बदल सकता है लेकिन पड़ोसी नहीं और इसलिए राजग सरकार पाकिस्तान के साथ दोस्ताना संबंध चाहती है।

90 के दशक के अंतिम वर्षों में वाजपेयी द्वारा पड़ोसी देश के साथ शांति की पहल की प्रशंसा करते हुए सिंह ने कहा कि यह वही वाघा-अटारी सीमा है जहां से पूर्व प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के साथ शांति प्रक्रिया की शुरुआत की थी।

उन्होंने कहा, ‘वाजपेयी ने पाकिस्तान की तरफ दोस्ती के हाथ बढ़ाए थे। वह न केवल पाकिस्तान के साथ दोस्ताना संबंध चाहते थे बल्कि दोनों देशों के लोगों के दिलों में एक दूसरे के लिये प्यार चाहते थे।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन बदले में हमें क्या मिला ? कारगिल का युद्ध।’ गृह मंत्री ने कहा कि भारत उस युद्ध में जीत गया और आगे बढ़ना चाहता है और पाकिस्तान से दोस्ती करना चाहता है ‘लेकिन अभी तक हम वह हासिल नहीं कर सके हैं जो हम करना चाहते हैं।’
पाकिस्तान के साथ लगती सीमा की सुरक्षा में बीएसएफ की भूमिका की प्रशंसा करते हुए सिंह ने कहा कि जब भी जरूरत पड़ी सीमा सुरक्षा बल ने किसी भी चुनौती का उपयुक्त जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सरकार भारत..पाक सीमा पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने की व्यापक योजना बना रही है।’

इससे पहले गृह मंत्री ने अटारी में नई दर्शक दीर्घा की नींव रखी। अटारी-वाघा संयुक्त जांच चौकी प्रतिदिन होने वाले बीटिंग रिट्रीट समारोह के लिए मशहूर है जिसे बीएसएफ एवं पाकिस्तान रेंजर्स संयुक्त रूप से करते हैं। नई दीर्घा 25 करोड़ रुपए की लागत से बनेगी जिसमें बैठने की ज्यादा क्षमता और अतिरिक्त सुविधाएं होंगी।

सिंह ने 2300 किलोमीटर की यात्रा कर वाघा-अटारी सीमा पर पहुंची बीएसएफ की ऊंट सवार महिला दस्ते को भी बधाई दी। हाल में गिरिजाघरों और अन्य अल्पसंख्यक संस्थानों पर हमले के सिलसिले में राजनाथ सिंह ने कहा कि इस तरह के कृत्यों में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘चाहे मंदिर पर हमला हो या मस्जिद या किसी अन्य धार्मिक स्थल पर, जो भी कार्रवाई की जरूरत होगी, हम कड़ाई से करेंगे।’ गृह मंत्री ने कहा कि अल्पसंख्यकों के बीच भय का वातावरण पैदा करने की जरूरत नहीं है और उनमें ‘विश्वास पैदा करने’ के प्रयास किए जाने चाहिए। पिछले पखवाड़े हरियाणा में एक गिरिजाघर में कथित रूप से तोड़फोड़ की गई और पश्चिम बंगाल में एक बुजुर्ग नन के साथ कथित रूप से बलात्कार हुआ था।


Check Also

दिल्ली के लोगों की बढ़ी मुश्किलें, तेज हुई जहरीली हवाएं

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर अचानक से बढ़ गया है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *