Home >> Exclusive News >> ‘चापलूसों से हो रहा है पार्टी का बंटाधार: मुलायम’

‘चापलूसों से हो रहा है पार्टी का बंटाधार: मुलायम’


images
लखनऊ,(एजेंसी) 24 मार्च । सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव लंबी बीमारी के बाद सोमवार को समाजवादी पार्टी दफ्तर में कार्यकर्ताओं से रू-ब-रू हुए तो उन्हें जमकर डांटा। उन्होंने कहा कि मना करने के बाद भी कार्यकर्ता नारे लगाते हैं, पार्टी दफ्तर में किसके जिंदाबाद के नारे लगा रहे हो? यह तो चापलूसों अनुशासनहीनों की पार्टी होती जा रही है। चापलूसों से ही पार्टी का बंटाधार हो रहा है। अखिलेश को भले ही यह पसंद हो, हमें कतई पसंद नहीं। वह सपा दफ्तर में बने लोहिया की 105वीं जयंती पर उनके नाम से बने सभागार का लोकार्पण कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि कुछ नेताओं ने पार्टी का बहुत नुकसान किया। लोकसभा चुनाव में एक बेहतर मौका गंवा दिया। हम 40-45 सीटें लाते तो कम से कम केंद्र में सरकार बनाने की स्थिति में होते, क्योंकि बीजेपी को कोई समर्थन हीं देता। इससे हम सरकार को बीजेपी को सत्ता में आने से रोक लेते। बीजेपी का विकल्प सपा है न कि कांग्रेस। पर इन लोगों ने हमें कहीं का नहीं छोड़ा। जब मैं सीएम था तो हमारे मुंबई में चार विधायक थे, कर्नाटक में भी दो विधायक थे। अब तो सपा केवल यूपी में ही सिमट कर रह गई है।

अमर सिंह की तारीफ
मुलायम ने इस मौके पर अमर सिंह की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि अमर सिंह कम बोलते थे, पर सही बोलते थे। कई मौकों पर उन्हें सही जानकारी रहती थी और वह सही जानकारी ही सामने लाते थे। अब वैसे नेता नहीं मिलते हैं।

मंत्री नहीं कर रहे सरकार का प्रचार
उन्होंने मंत्रियों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि तमाम मंत्री अपने-अपने काम और बड़ाई में व्यस्त रहते हैं। सरकार का कहीं कोई प्रचार नहीं करते। सरकार ने इतने काम किए और किसी भी मंत्री ने एक बार भी उसका प्रचार तक नहीं किया। मंत्रियों को तो पार्टी के संविधान तक की जानकारी नहीं है। वह भी कुछ नहीं पढ़ते हैं।

कुछ नेता सीआईडी का काम कर रहे
उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि कुछ नेता केवल सीआईडी का काम कर रहे हैं। वह केवल यही पता करने में जुटे रहते हैं कि दिल्ली से लेकर लखनऊ तक उनसे कौन मिलता है। कौन क्या कर रहा है? पर उन्हें यह नहीं मालूम कि मुझे सब पता है और कोई भी बात छिपी नहीं है। लंबे समय तक राजनीति में रहने वालों को बेदाग रहना चाहिए।

अफसरों की सिफारिश नहीं शिकायत करें
मुलायम ने कहा कि कुछ लोग उनसे आकर अफसरों की सिफारिश करते हैं कि फलां बहुत ईमानदार है। ईमानदार होकर अधिकारी कोई अहसान नहीं करते हैं। इसलिए किसी भी अफसर की सिफारिश नहीं बल्कि उसकी कमियां और शिकायत बताया करें। इस दौरान सीएम अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं की शिकायत भी सुनी।
—–
नेताओं ने बोला अंग्रेजी पर हमला
इससे पहले गोमतीनगर के लोहिया पार्क में हुए राम मनोहर लोहिया के 105वें जन्मदिवस समारोह में नेताओं ने अंग्रेजी पर जमकर हमला बोला। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सपा सरकार ने तो अंग्रेजी की अनिवार्यता को ही खत्म कर दिया था। बीजेपी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि अगर कोई सरकार भ्रष्ट बन जाए तो उसे चुनाव से पहले ही गिरा दो। इस मौके पर सीएम ने कहा कि अंग्रेजी व्यापार की भाषा हो गई है। दुनिया में तमाम ऐसे देश हैं, जिन्होंने अपनी मातृ भाषा को नहीं छोड़ा। इसके बावजूद वे अंग्रेजी बोलने वाले देशों के बराबर खड़े हैं। सीएम ने बताया कि जल्द ही ऐसा ऐप बनाया जाएगा, जिससे सरकार की उपलब्धियों से जुड़ी सारी जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि आज के दिन ही भगत सिंह को फांसी दी गई थी इसलिए डॉ. लोहिया कभी अपना जन्मदिन नहीं मनाते थे।

गर्वनर ने किया राम गोपाल की किताब का विमोचन
इस मौके पर सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रो. राम गोपाल यादव की पुस्तक ‘डॉ. लोहिया और उनका समाजवाद’ का गवर्नर राम नाईक ने विमोचन किया। गवर्नर ने कहा कि डॉ़ लोहिया विपक्षी एकता के शिल्पकार थे, मेरा उनसे पुराना सम्पर्क रहा है। सन 1963 में गोरेगांव मुंबई से उन्होंने उप चुनाव लड़ा था। पढ़ाई के लिए उन्होंने इंग्लैण्ड जाने से इसलिए मना कर दिया था कि जिस देश ने हमारी मातृभूमि को गुलाम बना रखा है, उस देश में शिक्षा ग्रहण करने का कोई औचित्य नहीं है।

नहीं आए आजम
कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय से लेकर लगभग सभी वरिष्ठ मंत्री मौजूद थे। इस दौरान वहां आजम खां का न पहुंचना चर्चा का विषय बना हुआ था।

जया बच्चन व डिंपल के लिए छोड़ी कुर्सी
कार्यक्रम में जब मंच पर अचानक सांसद जया बच्चन व डिंपल यादव पहुंचीं तो उन्हें देखते ही मुलायम, अखिलेश, शिवपाल व माता प्रसाद पांडेय को छोड़ बाकी सभी मंत्री खड़े हो गए। मंच पर आगे की पंक्ति में पड़ी कुर्सियों पर जगह नहीं थी लिहाजा मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव अपनी कुर्सी छोड़ कर पीछे की पंक्ति में बैठने चले गए। डिंपल व जया बच्चन को आगे की पंक्ति में बैठाने के लिए कई और मंत्रियों को भी अपनी सीट छोड़नी पड़ी।

चापलूसी छोड़ें कार्यकर्ता
लोहिया पार्क में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सपा सांसद प्रो. राम गोपाल यादव ने कहा कि केवल नेताओं की चापलूसी में कार्यकर्ता लगा रहेगा तो वह लोहिया का अनुयायी नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि लोग नारे लगा रहे हैं पर लोहिया को नहीं पढ़ते, लोहिया अब बस किताबों में कैद होकर रहे गए हैं।


Check Also

यूपी : DIG चंद्र प्रकाश की पत्नी ने आत्महत्या की

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में डीआईजी चंद्र प्रकाश की पत्नी ने शनिवार को आत्महत्या …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *