Wednesday , 27 March 2019
खास खबर
Home >> Politics >> AAP के नेताओं ने पार्टी के कॉल सेंटर कर्मचारियों को प्रताड़ित किए जाने का आरोप लगाया

AAP के नेताओं ने पार्टी के कॉल सेंटर कर्मचारियों को प्रताड़ित किए जाने का आरोप लगाया


आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेताओं ने मतदाता सूची से वोटरों का नाम हटाए जाने के बारे में लोगों को सूचना देने के लिए पार्टी द्वारा काम पर रखे गए कॉल सेंटर कर्मचारियों को कथित तौर पर प्रताड़ित किए जाने को लेकर विरोध दर्ज कराने के लिए मंगलवार को दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की. दरअसल, चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस से उन लोगों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है, जो शहर की मतदाता सूची के बारे में लोगों को गुमराह करने वाले फोन कॉल कर रहे हैं. इसके बाद, एक प्राथमिकी दर्ज की गई. 

बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य चुनाव आयुक्त से मुलाकात की और आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी इस तरह के फोन कॉल कर रही है. वहीं, आप के वरिष्ठ नेताओं ने आरोप लगाया है कि पुलिस इस विषय में कॉल सेंटर के कर्मचारियों को प्रताड़ित कर रही है. इस सिलसिले में आतिशी और चड्ढा ने इस विषय पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से मुलाकात की. पुलिस मुख्यालय के बाहर मीडिया को संबोधित करते हुए चड्ढा ने आरोप लगाया कि बीजेपी पिछले चार बरसों से आम आदमी पार्टी को तबाह करने की कोशिश कर रही है. 

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि वे मामले की जांच कर रहे हैं और यह पता लगाने के लिए कॉल सेंटर अधिकारियों से पूछताछ कर रहे हैं कि उनके द्वारा मतदाताओं को किए गए कथित फोन कॉल किस तरह के थे. आप नेता राघव चड्ढा ने कहा, ‘‘जिन लोगों ने आप को चंदा दिया उन्हें अधिकारियों द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा क्योंकि वे आप का समर्थन कर रहे हैं. आप ने निष्पक्ष चुनाव के लिए जिस एजेंसी का उपयोग किया है उसे भी प्रताड़ित किया गया. ऐसा इसलिए है कि बीजेपी इस बारे में डरी हुई है.’’

साथ ही, पार्टी की नेता आतिशी ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘‘बीजेपी ने दिल्ली में 30 लाख से अधिक मतदाताओं के नाम हटवा दिए और जब आम आदमी पार्टी ने इस मुद्दे के बारे में मीडिया में बात करना शुरू किया तब चुनाव आयोग ने वेबसाइट से यह सूची हटा दी.’’ उन्होंने कहा कि मतदाताओं का नाम हटाने की रणनीति का इस्तेमाल बीजेपी चुनावों में किया करती है. उन्होंने कहा कि तेलंगाना में भी यही हुआ था, जहां इस विषय को बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने प्रकाश में लाया था. उनका नाम मतदाता सूची से उड़ा दिया गया था. 

उन्होंने कहा कि बीजेपी जानती है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव हारने जा रही है, इसलिए अब वह विपक्षी पार्टी के साथ काम करने वाले कॉल सेंटर को डराने धमकाने की कोशिश कर रही है. आप के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने दिल्ली पुलिस से उन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया जो कॉल सेंटर कर्मचारियों को प्रताड़ित कर रहे हैं.


Study Mass Comm