Home >> Breaking News >> विदेश मंत्रालय ने यमन में जारी की अडवाइजरी

विदेश मंत्रालय ने यमन में जारी की अडवाइजरी


images (1)
नई दिल्ली ,(एजेंसी) 25 मार्च । यमन में रह रहे भारतीयों को भारत सरकार ने सलाह दी है कि वहां चल रहे गृहयुद्ध के मद्देनजर यमन तुरंत छोड़ दें। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि वहां सुरक्षा हालात ठीक नहीं हैं। प्रवक्ता ने कहा कि हम अपने नागरिकों को सलाह दे रहें हैं कि जल्द से जल्द किसी भी जरिए यमन छोड़ दें। प्रवक्ता ने कहा कि यमन में रह रहे भारतीयों के लिए यह तीसरी सलाह है और वह यह उम्मीद करते हैं कि हालात की गंभीरता को समझते हुए वे जल्द लौट आएंगे। यमन में फिलहाल करीब साढ़े तीन हजार भारतीय हैं, जिनमें अधिकतर नर्सें हैं, जो राजधानी साना के भिन्न इलाकों के अलावा यमन के दूसरे शहरों में भी हैं। गौरतलब है कि यमन में राष्ट्रपति निवास पर शिया उग्रवादियों ने हमले किए हैं। सना में भारतीय दूतावास ने भारतीयों के लिये हेल्प लाइन शुरू की है।
————–
अज्ञात जगह गए यमन के राष्ट्रपति
सना (यमन)
यमन में शिया विद्रोही देश के राष्ट्रपति के ठिकाने के पास पहुंच गए, जिसके बाद राष्ट्रपति अदन में अपने पैलेस से अज्ञात स्थान पर चले गए हैं। शिया विद्रोहियों द्वारा चलाए जा रहे एक टीवी स्टेशन ने कहा कि विद्रोहियों ने एक एयर बेस पर कब्जा कर लिया है, जहां आतंकवादियों के खिलाफ यमन की लड़ाई में उसे अमेरिकी सैनिक और यूरोपीय जवान मदद करते हैं। इसके कुछ ही घंटे बाद राष्ट्रपति आबिद रब्बू मंसूर हादी पैलेस से चले गए। यह एयर बेस अदन से महज 60 किलोमीटर दूर है जहां हादी ने एक अस्थाई राजधानी बना रखी है। पांच अधिकारियों ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर यह जानकारी दी। चश्मदीदों ने कहा कि उन्होंने बुधवार को अदन में एक पर्वत पर स्थित हादी के पैलेस से राष्ट्रपति के काफिले को निकलते देखा। हादी के प्रति वफादार सेना ने तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की।


Check Also

दिल्ली के लोगों की बढ़ी मुश्किलें, तेज हुई जहरीली हवाएं

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर अचानक से बढ़ गया है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *