Wednesday , 27 March 2019
खास खबर
Home >> U.P. >> कांग्रेस की चुनावी तैयारियों को परवान चढ़ाने लखनऊ पहुंची प्रियंका गांधी वाड्रा

कांग्रेस की चुनावी तैयारियों को परवान चढ़ाने लखनऊ पहुंची प्रियंका गांधी वाड्रा


उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर बेहद गंभीर कांग्रेस की चुनावी तैयारियों को पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा गति प्रदान करेंगी। कांग्रेस ने करीब दो दर्जन प्रत्याशियों को टिकट भी दे दिया है। अब प्रियंका गांधी के आगमन के बाद से उनके आगे के कार्यक्रम तय होंगे।

सक्रिय राजनीति में कदम रखने के साथ ही कांग्रेस महासचिव तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी के पद पर काबिज प्रियंका गांधी वाड्रा का तमाम कयासों के बाद लखनऊ आने का कार्यक्रम फाइनल हुआ। पार्टी की चुनावी तैयारियों को परवान चढ़ाने के लिए पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी आज लखनऊ में रहेंगी।

प्रियंका गांधी आज दिन में करीब 10:30 बजे लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचीं। वहां पार्टी के पदाधिकारियों ने प्रदेश अध्यक्ष के साथ स्वागत किया। सड़क मार्ग से कांग्रेस कमेटी के प्रदेश कार्यालय में पहुंचने पर भी उनका जोरदार स्वागत किया गया। कांग्रेस कार्यालय में बड़ी संख्या में मौजूद कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। 

आज दिन में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, शिक्षामित्रों समेत अन्य वर्गों के प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगी। इन सभी वर्गों को प्रियंका के आगमन के बारे में जानकारी दे दी गई हैै। 

इसके बाद उनकी पिछले लोकसभा व विधानसभा चुनावों के कांग्रेस प्रत्याशियों और संगठन पदाधिकारियों के साथ भी उनकी बैठकें प्रस्तावित हैं। शाम को उनके प्रयागराज जाने का कार्यक्रम है जहां वह स्वराज भवन में रात्रि विश्राम करेंगी। हालांकि पार्टी सूत्रों का कहना है कि यदि लखनऊ में बैठकें रात तक चलीं तो वह कल सुबह प्रयागराज जा सकती हैं। 

प्रयागराज में कल सुबह संगम तट पर पूजन-अर्चन के बाद उनका जलमार्ग से वाराणसी जाने का कार्यक्रम फिलहाल प्रस्तावित है। प्रियंका के लखनऊ आगमन को लेकर दिन भर भ्रम की स्थिति बनी रही। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की ओर से बीती देर रात किये गए ट्वीट की भी इसमें भूमिका रही। ट्वीट में राज बब्बर ने कहा था कि प्रियंका गांधी जी अभी आयी भी नहीं कि उनके लंबे-चौड़े प्रोग्राम आ गए। मान्यवरों प्रियंका जी के प्रोग्राम की पूरी रूपरेखा अभी तैयार हो रही है और प्रशासन के समक्ष भी जा रही है। जल्द ही आप सबको सूचित किया जाएगा। उनके इस गंभीर ट्वीट के कारण मीडिया में प्रियंका के कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता और मीडिया में भ्रम फैला। 

गौरतलब है कि इससे पहले प्रियंका का लखनऊ आने का कार्यक्रम तीन बार रद हो चुका है। बहरहाल इलाहाबाद में एमपी-एमएलए कोर्ट में पेशी पर पहुंचे राज बब्बर ने दोपहर बाद स्थिति स्पष्ट की। यह कहते हुए कि प्रियंका गांधी का 18 तारीख को इलाहाबाद का कार्यक्रम तय है। 

फ्लाइट में प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेने की मची होड़

प्रियंका गांधी वाड्रा आज लखनऊ दौरे पर हैं। कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा नई दिल्ली से इंडिगो की फ्लाइट से सफर करके लखनऊ पहुंची।

इस दौरान फ्लाइट में प्रियंका गांधी को देखकर यात्रियों ने उनके साथ सेल्फी लेने की होड़ मच गई। प्रियंका गांधी के साथ फोटो को कुछ यात्रियों ने सोशल मीडिया में वायरल कर दिया।  

प्रियंका गांधी ने यूपी के लोगों को लिखा पत्र

लखनऊ पहुंचने से पहले प्रियंका गांधी ने अपनी तीन दिनों की प्रदेश यात्रा से पहले यूपी वासियों को पत्र लिखा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लखनऊ आने से पहले पत्र जारी किया। इस पत्र को लिखकर उन्होंने यूपी की जनता से संवाद करने के लिए उनके द्वार पहुंचने की बात कही। प्रियंका ने यूपी के लोगों के लिए एक चिट्ठी लिखी है। उन्होंने लिखा है कि राजनीति में बदलाव के लिए मैं आपके द्वार पहुंच रही हूं। आपसे एक सच्चा संवाद करने। अपने पत्र में उन्होंने लिखा कि उत्तर प्रदेश के लोगों से मेरा पुराना नाता रहा है। आज कांग्रेस पार्टी की सिपाही के रूप में मेरी जिम्मेदारी आप सबके साथ मिलकर उत्तर प्रदेश की राजनीति बदलने की है।

 उन्होंने लिखा कि प्रदेश की राजनीति में एक ठहराव सा आ गया है। जिसके कारण युवा, किसान और महिलाएं परेशान हैं। वे अपनी बात अपनी पीड़ा लोगों के साथ साझा करना चाहते हैं,लेकिन राजनीतिक गुणा-गणित के शोर में युवाओं, महिलाओं, किसानों और मजदूर की आवाज प्रदेश की नीतियों की तरह पूरी तरह से गायब है। उन्होंने लिखा कि मैं मानती हूं कि प्रदेश में किसी भी राजनीतिक परिवर्तन की शुरुआत आपकी बात को सुने बगैर नहीं हो सकती। सीधा आपसे एक सच्चा संवाद करने के लिए आपके द्वार पर पहुंच रही हूं। उन्होंने पत्र में लिखा है कि युवा, महिला, मजदूर और किसानों की बातों को राजनैतिक गणित में दबाया जा रहा है। उन्होंने गंगा नदी को सच्चाई और समानता का प्रतीक बताकर गंगा का सहारा लेकर लोगों से जुडऩे की बात कही है। 


Study Mass Comm