Saturday , 20 April 2019
खास खबर
Home >> क्राइम >> दून-हरिद्वार हाइवे की खस्ताहालत राहगीरों की जान की दुश्मन बनी हुई है

दून-हरिद्वार हाइवे की खस्ताहालत राहगीरों की जान की दुश्मन बनी हुई है


दून-हरिद्वार हाइवे की खस्ताहालत राहगीरों की जान की दुश्मन बनी हुई है। सुबह इस हाईवे की दुर्दशा ने फिर दो लोगों की जान ले ली। मोतीचूर के पास सड़क पड़ीं ईँट पर बाइक फिसलने गई। इससे चचेरे भाई-बहन की मौत हो गई, जबकि बाइक सवार बुजुर्ग गम्भीर रूप से घायल हैं। घायल को थाना रायवाला की पुलिस ने एम्स अस्पताल पहुंचाया है।

जानकारी के मुताबिक बुढ़पुर थाना मंगलौर हरिद्वार निवासी तपेश्वर (55) अपनी बीमार बेटी रिया(24) को एम्स अस्प्ताल ऋषिकेश ले जा रहे थे। बेटी को संभालने के लिए बाइक पर पीछे उनका भतीजा प्रदीप (22) भी बैठा हुआ था। जब वे मोतीचूर के निर्माणाधीन फ्लाईओवर के पास डायवर्जन से गुजर रहे थे, तभी सड़क पर पड़ी ईँट पर बाइक रपट गई। 

इससे बाइक सवार बराबर में उसी दिशा में चल रहे ट्रक के पिछले पहियों के नीचे आ गए। मौके पर ही प्रदीप व रिया की टायर के नीचे दबने से मौत हो गई। वहीं घायल तपेश्वर को आसपास के लोगों ने ट्रक के नीचे से निकाला।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को एम्स भिजवाया। हादसे के बाद हाइवे पर जाम लग गया। पुलिस ने बमुश्किल यातायात सामान्य बनाया। वहीं सड़क पर बिखरी निर्माण सामग्री को लेकर आस-पास के ग्रामीणों ने हंगामा शुरू कर दिया।

उनका कहना था कि एक तरफ फ्लाईओवर की निर्माण सामग्री पड़ी है तो दूसरी तरफ रसूखदार होटल संचालको ने फुटपाथ पर अतिक्रमण किया हुआ है। ऐसे में राहगीर परेशान हैं और आए दिन हादसे हो रहे हैं। इसके बावजूद हाईवे प्रशासन बेपरवाह बना हुआ है। ग्राम प्रधान सतेंद्र धमांदा ने बताया कि वास्तविकता दिखाने के लिए हाईवे प्राधिकरण के अधिकारियों को मौके पर बुलाया गया। वहीं लोगों के हंगामे को देखते हुए मौके पर सीआरपीएफ व पुलिस के जवान पहुंचे।

बता दें कि दून हरिद्वार हाइवे बेहद खस्ताहाल हैं। इन दिनों मोतीचूर,रायवाला, तीन पानी व लालतप्पड़ के पास फ्लाई ओवर का निर्माण कार्य चल रहा है लेकिन सुरक्षा के मानक नदारद हैं। रविवार देर शाम भी रायवाला के पास सड़क हादसे में एक महिला की मौत हो गयी थी।


Study Mass Comm