Home >> U.P. >> ‘वृक्ष महाकुंभ’ में शामिल होने प्रयागराज पहुंचे सीएम, करेंगे पौध वितरण

‘वृक्ष महाकुंभ’ में शामिल होने प्रयागराज पहुंचे सीएम, करेंगे पौध वितरण


प्रयागराज की धरती पर शुक्रवार को ‘वृक्ष महाकुंभ’ के जरिए गिनीज बुक आफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने के लिए 1.20 लाख पौधों का वितरण हो रहा है। सुबह ही गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधि स्वप्निल डांगरी और ऋषिराज भी परेड मैदान पहुंचे। मुख्य कार्यक्रम थोड़ी देर में शुरू होगा, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ शामिल होने वाले हैं। वह प्रयागराज के पुलिस लाइन हेलीकाप्टर से पहुुंच चुके हैं। यहां गार्ड ऑफ आनर लेने के बाद कार्यक्रम स्थल पर पहुंचेंगे। इस दौरान सीएम भी पौधों का वितरण करेंगे।

प्रयागराज 
गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकार्ड बना रहा
प्रयागराज की धरती पर आज गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड बनेगा। यहां संगम किनारे परेड मैदान में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में एक लाख से अधिक पौधे बांटे जाएंगे। पौधा वितरण का कार्यक्रम सुबह से ही शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री दोपहर बाद कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। देश में पहली बार इतने बड़े पैमाने पर पौधा वितरण किया जा रहा है।

कमिश्नर व डीएम ने पौधे लेकर कार्यक्रम की शुरूआत की
कमिश्नर आशीष गोयल उनकी पत्नी सलोनी गोयल, डीएम भानुचंद्र गोस्वामी ने एक-एक पौधे लेकर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस दौरान कमिश्नर ने कहा कि प्रयागराज ने गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड पूर्व में बनाए हैं। एक बार फिर आज वृक्ष महाकुंभ में विश्व रिकार्ड बनेगा। विद्यार्थियों को पौधे बांटने का कार्यक्रम शुरू हो गया है। प्रत्येक काउंटर पर दो कंप्यूटर और थंब इंप्रेशन मशीनें लगाई गई हैं, ताकि पौधे लेने आने वाले बच्चों के अंगूठे के निशान लिए जा सकें। परेड ग्राउंड पर पौधे वितरण कार्यक्रम की जांच के लिए गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड की टीम सदस्य स्वप्निल डांगरी कर और ऋषिराज आ चुके हैं।

स्कूल और कॉलेज के छात्र-छात्राओं की परेड ग्राउंड में उमड़ी भीड़
सुबह से ही परेड ग्राउंड पर आयोजित वृक्ष महाकुंभ में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में विद्यार्थी, शिक्षक आदि पहुंच गए हैं। छात्र-छात्राओं की लंबी कतारें दूर तक लगी हुई है। कार्यक्रम स्थल पर अत्यधिक भीड़ होने की वजह से विद्यार्थियों को बाहर ही खड़ा किया गया है।

दोपहर 3.50 बजे आएंगे मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपराह्न 3:50 बजे पुलिस लाइन स्थित हैलीपैड आएंगे। यहां से वह परेड ग्राउंड जाएंगे। परेड मैदान में वह चार से 5.05 बजे तक रहेंगे। वह लोगों को पौधे वितरित करेंगे और इस कार्यक्रम को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड में दर्ज होने के दौरान उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा पौधरोपण महाकुंभ विषय पर छात्र-छात्राओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी देखेंगे। शाम 5.20 बजे पुलिस लाइन स्थित हैलीपैड से वह लखनऊ के लिए रवाना हो जाएंगे।

ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारियों को उनकी जिम्मेदारी बताई गई

प्रयागराज आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की सुरक्षा में पुलिस और पीएसी के साथ ही एनएसजी और आइटीबीपी के भी जवान मुस्तैद रहेंगे। पुलिस लाइन स्थित हेलीपैड से परेड मैदान तक मुख्यमंत्री का फ्लीट गुजरने का रिहर्सल किया गया। परेड मैदान में भीड़ नियंत्रण और सुरक्षा के हर पहलू पर गहन मंथन किया गया। सीएम आगमन की पूर्व संध्या पर डीआइजी केपी सिंह ने डीएम भानुचंद्र गोस्वामी और एसएसपी अतुल शर्मा ने ड्यूटी पर तैनात होने वाले पुलिस अधिकारियों को उनकी जिम्मेदारी बताई।

नेशनल सिक्योरिटी गार्ड के कमांडो का सुरक्षा घेरा रहेगा

एसपी प्रोटोकाल आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि वृक्ष महाकुंभ के दौरान शांति व्यवस्था में जोन के 10 जिलों से छह एएसपी, 14 डिप्टी एसपी, 40 इंस्पेक्टर, 200 सब इंस्पेक्टर, एक हजार सिपाही, 10 महिला सब इंस्पेक्टर, 320 महिला सिपाहियों की तैनाती रहेगी। इसके अलावा तीन कंपनी पीएसी और एक कंपनी इंडो तिब्बत पुलिस बल की मुस्तैद रहेगी। नेशनल सिक्योरिटी गार्ड के कमांडो का सुरक्षा घेरा रहेगा।

ऐसी रहेगी ट्रैफिक व्यवस्था 

वृक्ष महाकुंभ में मुख्यमंत्री के आगमन के दौरान कई मार्गों पर ट्रैफिक डायर्वजन स्कीम लागू रहेगी। एसपी ट्रैफिक के मुताबिक, पुलिस लाइन मैदान पर हेलीकाप्टर से पहुंचने के बाद सीएम का फ्लीट म्योहाल, लोकसेवा आयोग, हिंदू हॉस्टल, बालसन चौराहा, सोहबतियाबाग, गीता निकेतन, जीटी जवाहर मार्ग होते हुए परेड मैदान पहुंचेगा। परेड से पुलिस लाइन वापसी का भी यही रूट है।

संगम की तरफ जाने वाले वाहनों को रोका गया

आज सुबह छह बजे से संगम की तरफ वाहनों को रोका जा रहा है। यह व्यवस्था कार्यक्रम समाप्ति तक रहेगी। वृक्ष महाकुंभ में आने वाले वाहनों को प्लाट नंबर 17 पर खड़ा कराया जा रहा है। स्कूली वाहन काली सड़क से जाकर आगे नाले के पास बनी पुलिया के दाहिने पार्किग स्थल पर खड़े हो रहे हैं। आम लोगों के वाहन काली सड़क और नाले के बीच खाली स्थान पर खड़े कराए जा रहे हैं।


Check Also

दो सगे भाइयों की राघव प्रयागघाट पर मंदाकिनी नदी में डूबकर हुई मौत, कानपुर से चित्रकूट पहुंचे थे दोनों युवक

Tragic Accident In Chitrakoot जनपद सीमा में सटे जिला सतना के नयागांव थाना क्षेत्र में गुरुवार …