Home >> U.P. >> एशिया की सबसे बड़ी पत्थर मंडी पर ताला लग गया: उत्तर प्रदेश

एशिया की सबसे बड़ी पत्थर मंडी पर ताला लग गया: उत्तर प्रदेश


उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में स्थापित एशिया की सबसे बड़ी पत्थर मंडी पर ताला लग गया है. इस तालाबंदी से 2 लाख मजदूर बेरोजगार हो गए हैं. 6 हजार ट्रक बेकार खड़े हैं. हालात ऐसे हो गए हैं कि एनएच 34 के टोल प्लाजा पर सन्नाटा पसरा हुआ है.

राज्य की नई खनन नीति के विरोध में यह तालाबंदी हुई है. तालाबंदी के कारण 10 करोड़ की लागत वाले स्टोन क्रेशर्स की नीलामी की नौबत आ गई है. क्रेशर मालिकों का कहना है कि शासन की खनिज नीति के कारण उन्होंने हड़ताल की है.

महोबा जिले का कबरई कस्बा पत्थर उद्योग नगरी के नाम से भी जाना जाता है. यहां पर एशिया का सबसे बड़ा पत्थर बाजार है. कबरई कस्बे और आसपास लगभग 350 स्टोन क्रेशर लगे हैं. प्रदेश सरकार की नई खनन नीति से पहाड़ के ठेकेदारों और क्रेशर मालिकों की कमर टूट गई है. जिले के क्रेशर मालिकों ने खनिज नीति में सुधार की मांग को लेकर जिला प्रशासन से लेकर प्रदेश शासन तक अपील की है. सुनवाई ना होने पर मजबूरन क्रेशर मालिकों को हड़ताल पर जाना पड़ा है.


Check Also

दो सगे भाइयों की राघव प्रयागघाट पर मंदाकिनी नदी में डूबकर हुई मौत, कानपुर से चित्रकूट पहुंचे थे दोनों युवक

Tragic Accident In Chitrakoot जनपद सीमा में सटे जिला सतना के नयागांव थाना क्षेत्र में गुरुवार …