Friday , 20 September 2019
खास खबर
Home >> Breaking News >> रक्षा मंत्रालय का फैसला, फील्ड में भेजे जाएंगे सेना मुख्यालय में तैनात 206 अधिकारी

रक्षा मंत्रालय का फैसला, फील्ड में भेजे जाएंगे सेना मुख्यालय में तैनात 206 अधिकारी


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना मुख्यालय के पुनर्गठन के लिए विभिन्न प्रस्तावों को मंजूरी दे दी. इसके साथ ही सेना मुख्यालय में तैनात कुल 206 अधिकारियों को अब फील्ड ऑपरेशन में भी भेजा जाएगा.

जिन अफसरों को फील्ड में भेजा जाएगा उनमें 186 लेफ्टिनेंट कर्नल, 9 कर्नल, 8 ब्रिगेडियर और 3 मेजर जनरल शामिल हैं. मैदान में सेना के नेतृत्व क्षमता में बढ़ोतरी के उद्देश्य से इन अफसरों को फील्ड में भेजा जा रहा है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना मुख्यालय के पुनर्गठन संबंधी कई फैसलों को मंजूरी दी है. रक्षा मंत्री कार्यालय ने बयान जारी कर आज इसकी जानकारी दी. सेना मुख्यालय द्वारा किए गए एक विस्तृत आंतरिक अध्ययन के आधार पर मंजूरी दी गई है.

रक्षा मंत्रालय की तरफ से जारी बयान के मुताबिक फिलहाल चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ के तहत एक पृथक विजिलेंस सेल काम कर रहा है. विभिन्न एजेंसियों के जरिये विजिलेंस सेल चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ के काम करता है और इसमें कहीं हस्तक्षेप की गुंजाइश नहीं होती है.

लेकिन अब चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ के तहत स्वतंत्र विजिलेंस सेल काम करेगा. इसी तरह एडीजी (सतर्कता) को इस उद्देश्य के लिए सीधे चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ के तहत रखा जाएगा. इसमें कर्नल स्तर के तीन अधिकारी होंगे जो सेना, वायु सेना और नौसेना से होंगे.

मानवाधिकार के लिए अलग विभाग बनेगा

वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ के तहत गठित संगठन मानवाधिकार के मुद्दों को देखेगा. बयान के अनुसार मानवाधिकार सम्मेलन और मानवाधिकार मूल्यों के पालन को उच्च प्राथमिकता देने के लिए, ADCO (मेजर जनरल रैंक के अधिकारी) की अध्यक्षता में सीधे वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ के नेतृत्व में एक विशेष मानवाधिकार अनुभाग स्थापित करने का निर्णय लिया गया है.

रक्षा मंत्रालय का यह विभाग मानवाधिकार के मामलों को प्रमुखता से देखेगा. साथ ही पारदर्शिता और विभाग में सबसे अच्छे जांच विशेषज्ञ के लिए एसएसपी/एसपी रैंक के एक पुलिस अधिकारी को प्रतिनियुक्ति पर रखा जाएगा.


Study Mass Comm