Home >> समाचार >> जेएनयू के नए प्रबंधन को शिक्षा के बारे में कुछ पता नहीं: शशि थरूर

जेएनयू के नए प्रबंधन को शिक्षा के बारे में कुछ पता नहीं: शशि थरूर


कांग्रेस नेता शशि थरूर ने गुरुवार को कहा कि जेएनयू के नए प्रबंधन को शिक्षा के बारे में कुछ पता नहीं है. जानीमानी इतिहासकार रोमिला थापर को अपना बायोडेटा जमा करने के लिए जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी द्वारा एक पत्र भेजे जाने के विषय में उन्होंने ये बयान दिया. उन्होंने यह भी कहा कि यूनिवर्सिटी लोगों को प्रोफेसर एमिरट्स का दर्जा देते हैं ताकि खुद का सम्मान कर सकें.

थरूर ने कहा, “जब कोई प्रोफेसर रिटायर होता है या रिटायर होने की उम्र तक पहुंचता है तो यूनिवर्सिटी उस व्यक्ति के साथ अपना संबंध खत्म नहीं करना चाहता. ऐसे में ऐमिरट्स का दर्जा दिया जाता है.” उन्होंने कहा, “यह मामला दोतरफा होता है. प्रोफेसर का संस्थान से संबंध होता है, लेकिन उसकी कोई बाध्यता नहीं होती. दूसरी तरफ यूनिवर्सिटी की भी कोई बाध्यता नहीं होती, उसे वेतन नहीं देना होता लेकिन उसके साथ संबंधित व्यक्ति का नाम जुड़ा होता है. इससे यूनिवर्सिटी को एक तरह से विश्वसनीयता भी मिलती है.”


Check Also

कोरोना वायरस के कहर से वैष्णो देवी की यात्रा पर रोक लगा दी गई: श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए वैष्णो देवी की यात्रा फिलहाल रोक दी …