Home >> Politics >> भाजपा का महाविकास अघाड़ी पर आरोप, कहा- नई सरकार कर रही नियमों का उल्‍लंघन

भाजपा का महाविकास अघाड़ी पर आरोप, कहा- नई सरकार कर रही नियमों का उल्‍लंघन


भाजपा की ओर से महाराष्‍ट्र की नई सरकार पर नियमों को तोड़ने व उल्‍लंघन करने का आरोप लगाया गया है। दरअसल, राज्‍य की नई सरकार ने प्रोटेम स्‍पीकर के तौर पर कालीदास कोलंबकर की जगह दिलीप वालसे पाटिल को नियुक्‍त किया है।

प्रोटेम स्‍पीकर को बदलने को अवैध बताते हुए भाजपा ने शनिवार को महाविकास अघाड़ी की निंदा की। भाजपा के चंद्रकांत पाटिल ने कहा, ‘महाविकास अघाड़ी ने कालीदास कोलंबकर को बदलकर दिलीप वालसे पाटिल को प्रोटेम स्‍पीकर के तौर पर नियुक्‍त किया है। यह कानूनी तौर पर गलत है। साथ ही उन्‍होंने नियमों के अनुसार शपथ भी नहीं लिया था। नई सरकार सारे नियमों का उल्‍लंघन कर रही है। हम गर्वनर के पास याचिका दायर कर रहे हैं और इसके लिए सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे।‘

एनसीपी के नेता प्रफुल्‍ल पटेल ने कहा कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन वाली पार्टी महाविकास अघाड़ी गठबंधन के साथ हुए समझौते के अनुसार, महाराष्‍ट्र असेंबली स्‍पीकर का पद कांग्रेस पार्टी को मिलना चाहिए। उन्‍होंने कहा, ‘इसमें कोई गलतफहमी नहीं। कांग्रेस ने इसके लिए कुछ नामों की पेशकश की है और हमें इसमें कोई परेशानी नहीं।’

शिवसेना के उद्धव ठाकरे ने महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली है। इसके बाद अब उप मुख्‍यमंत्री और असेंबली स्‍पीकर के पद के लिए विचार-विमर्श जारी है।

महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है। उद्धव सरकार का आज फ्लोर टेस्ट होना है। वहीं रविवार को स्थायी स्पीकर का चुनाव किया जाएगा। साथ ही विपक्ष के नेता का भी चुनाव होगा। बता दें कि उन्‍होंने असेंबली स्‍पीकर के तौर पर भाजपा के किसन कथोरे को उम्‍मीदवार बताया है। वहीं कांग्रेस की ओर से स्‍पीकर के लिए उम्‍मीदवार के तौर पर नाना पटोले का नाम पेश किया गया है।


Check Also

दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार को दिया कानून के तहत कार्रवाई करने निर्देश

जेएनयू देशद्रोह मामले में दिल्ली सरकार द्वारा मुकदमा चलाने की मंजूरी नहीं देने के खिलाफ …