Home >> Health Tips >> पीरियड्स के दौरान कभी न करें ये गलतियां, उन दिनों लड़कियों को हों सकती है कई तरह की समस्या

पीरियड्स के दौरान कभी न करें ये गलतियां, उन दिनों लड़कियों को हों सकती है कई तरह की समस्या


पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द होना, मूड स्विंग होना, कपड़े में स्टेन लगने का डर, बार-बार सिर चकराना या फिर थकान आम बात होती है लेकिन कुछ गलतियों के चलते इस समय लड़कियों बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. आपको बता दें कि पीरियड्स लड़कियों के बारे में कई तरह की बातों को सामने रखता है. पीरियड्स के दिनों में लड़कियों के लाइफस्टाइल में भी कई तरह के बदलाव आते हैं. हालांकि यह एक नैचुरल प्रोसेस है लेकिन इसके चलते कई बार लड़कियों को कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ता है. आइए जानते हैं ऐसी कौन सी गलतियां हैं जिसे करने से पीरियड्स के दिनों में महिलाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.


ज्यादा कठिन एक्सरसाइज न करें
अगर पीरियड्स के दौरान आपको पेट में तेज दर्द महसूस हो रहा है या फिर पीठ या कमर में अकड़ महसूस हो रही है तो आपके लिए बेहतर होगा कि आप किसी भी तरह का शारीरिक श्रम या फिर कठिन एक्सरसाइज करने से बचें. इस तरह की मेहनत आपके शरीर का ये दर्द और अधिक बढ़ सकती है. दर्द बढ़ने से आपको शारीरिक रूप से कमजोरी भी महसूस हो सकती है. साथ ही थकान के चलते भूख न लगना या फिर उल्टी आने जैसी हालत भी हो सकती है.

 

दर्द बढ़ने से आपको शारीरिक रूप से कमजोरी भी महसूस हो सकती है
सेनेटरी नैपकिन को टाइम से बदलें

पीरियड्स के दौरान साउ सुथरा रहना बहुत जरूरी है. इस वक्त हर लड़की को अपने हाइजीन का खास ख्याल रखना चाहिए. इसके लिए जरूरी है कि आप पीरियड्स के दौरान समय से अपना सेनेटरी नैपकिन बदलें. 4 से 5 घंटे के अंदर ही सैनेटरी नैपकिन बदलना जरूरी होता है. ऐसा नहीं करने पर आप किसी भी प्रकार के गंभीर इंफेक्शन का शिकार हो सकती हैं. साथ ही दुर्गंध की समस्या भी नहीं होगी.

बहुत टाइट कपड़े न पहनें
पीरियड्स के दौरान टाइट कपड़े पहनना बिल्कुल सही नहीं होता. इन दिनों ऐसे कपड़े पहनें जिन्हें पहनकर आप आराम महसूस करें. टाइट कपड़े पहनने से आपको कंफर्ट महसूस नहीं होगा और आप पूरे दिन इरिटेट होती रहेंगी. ये खासकर उन महिलाओं के लिए है जिन्हें घर से बाहर निकल कर काम करना पड़ता है. ऐसे में टाइट कपड़े आपको ऑफिस में काम के दौरान परेशान कर सकते हैं और आप चिड़चिड़ा महसूस कर सकती हैं.

पीरियड्स के दौरान कम से कम 8 घंटे की नींद लेना शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है. पूरी नींद न लेने से शरीर के साथ साथ सिर में भी दर्द शुरू हो सकता है. पीरियड्स के दौरान लड़कियों के पेट में तो दर्द बना ही रहता है और ऐसे में सिर में दर्द होने पर आप फ्रस्टेटेड महसूस कर सकती हैं. इस समय भरपूर नींद लेने से शारीरिक तनाव के साथ साथ मानसिक तनाव भी दूर होता है.

इस समय लड़कियों को पेट में ऐंठन और मूड स्विंग जैसी समस्याओं से जूझना पड़ता है और ऐसे में अल्कोहल इन परेशानियों को और अधिक बढ़ा सकता है.

अल्कोहल का सेवन न करें
पीरियड्स के दौरान अल्कोहल का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. दरअसल इस समय लड़कियों को पेट में ऐंठन और मूड स्विंग जैसी समस्याओं से जूझना पड़ता है और ऐसे में अल्कोहल इन परेशानियों को और अधिक बढ़ा सकता है. इस समय अल्कोहल का सेवन करने से बचें. इसकी जगह पर गर्म पानी पिएं. साथ में हर्बल चाय का भी सेवन किया जा सकता है.

न बनाएं फिजिकल रिलेशनशिप
पीरियड्स के दौरान लड़कियों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह इस समय फिजिकल रिलेशनशिप से दूर रहें. ऐसा करने से न केवल इन्फेक्शन का खतरा बढ़ता है बल्कि दर्द की समस्या भी अधिक हो सकती है.


Check Also

काढ़ा पीने से बढ़ती है शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता, बीमारियों से लड़ने की ताकत देता है काढ़ा

काढ़ा एक आयुर्वेदिक पेय पदार्थ है, जो कई तरह की घरेलू औषधियों को मिलाकर तैयार …