Home >> U.P. >> करीब पांच महीने बाद शुरू संपूर्ण समाधान दिवस का नजारा दिखा बदला-बदला

करीब पांच महीने बाद शुरू संपूर्ण समाधान दिवस का नजारा दिखा बदला-बदला


करीब पांच महीने बाद शुरू संपूर्ण समाधान दिवस का नजारा बदला-बदला दिखा। आयोजन सभाकक्ष व टेंट लगाकर किया गया। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शासन ने 17 मार्च को इनके आयोजन पर रोक लगा दी थी। कोविड-19 से बचाव के लिए तहसील के प्रवेश द्वार पर थर्मल स्कैनिग के बाद फरियादियों को प्रवेश दिया गया। प्रवेश के बाद हाथ सैनिटाइज कर फरियादियों को जाने की इजाजत दी गई। संपूर्ण समाधान दिवस में पहले से ज्यादा सावधानी दिखी।

बीकापुर में तहसील में आयोजित जिला स्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा से मलेथूकनक निवासी पुष्कर मिश्र ने शिकायत की कि उनके बाबा का निधन तीन महीने पहले एक जून व पिता का निधन 20 दिन पहले 19 अगस्त को हो गया। वरासत के लिए हल्का लेखपाल रुपये मांगता है। जिलाधिकारी ने हल्का लेखपाल विकास यादव को तलब कर फटकार लगा निलंबित कर दिया। मुकीमपुर पहाड़पुर निवासी मनोराम ने शिकायत की तालाब संख्या 3999 का नीलामी पट्टा वर्ष 2016 में मिला लेकिन कब्जा नहीं मिला। जिलाधिकारी ने लेखपाल भीम सिंह का वेतन रोकने व डीडीसी के अनुपस्थिति होने पर उनका भी वेतन रोकने का आदेश दिया। 195 शिकायतों में से सात का निस्तारण हुआ। बनकट निवासी मंजू, रघुराजी, विद्यावती, केसपति की शिकायत पर कोटेदार की जांच सहायक पूर्ति निरीक्षक प्रदीप तिवारी को दी। एसएसपी दीपक कुमार, प्रभारी सीएमओ सीबी द्विवेदी, अधिशासी अभियंता रोहित कुमार, जिला गन्ना अधिकारी एपी सिंह, एसडीएम दिग्विजय प्रताप सिंह, सीओ विजय कुमार, तहसीलदार मनोज कुमार सिंह, खंड विकास अधिकारी स्वप्निल यादव, अधिशासी अधिकारी रागिनी वर्मा सहित अन्य विभागों के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

सदर तहसील में कोरोना को लेकर सावधानी बरती गई। एसडीएम कार्यालय के सामने टेंट लगाकर शिकायत सुनी गई। विधायक वेदप्रकाश गुप्त, एसपी सिटी विजयपाल सिंह व एसडीएम ज्योति सिंह ने शिकायतें सुनीं। 80 शिकायतों में से दो निस्तारित हुईं। मिल्कीपुर में संपूर्ण समाधान दिवस में आई 73 शिकायतों में से दो का निस्तारण हुआ। अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गोरेलाल शुक्ल की अध्यक्षता में समाधान दिवस आयोजित किया गया। फरियादियों को पहुंचने से पहले कोविड डेस्क से होकर गुजरना पड़ा। अपनाई गई लंबी प्रक्रिया के चलते बिना शिकायत के लोगों ने घरों की राह पकड़ ली। उप जिलाधिकारी अशोककुमार शर्मा, तहसीलदार अरविद त्रिपाठी, नायब तहसीलदार हृदय राम तिवारी, खंड विकास अधिकारी ज्योति शर्मा सहित अन्य विभागों के प्रतिनिधि मौजूद रहे। संसू, रुदौली के अनुसार विधायक रामचंद्र यादव की अध्यक्षता व एडीएम प्रशासन संतोष कुमार सिंह की मौजूदगी में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस थर्मल स्कैनिग के बाद शिकायतकर्ताओं को प्रवेश मिला। कुल 80 शिकायतें आईं, पांच का निस्तारण हुआ। उपजिलाधिकारी विपिन सिंह, क्षेत्राधिकारी डॉ. धर्मेंद्र यादव, अधिशासी अधिकारी रणविजय सिंह, उपखंड अधिकारी आरके सिंह, कोतवाल केके यादव आदि मौजूद रहे। संसू, सोहावल के अनुसार मुख्य राजस्व अधिकारी पुरुषोत्तमदास गुप्त की अध्यक्षता में संपन्न संपूर्ण समाधान दिवस में आईं 84 शिकायतों में से 10 का निस्तारण किया गया। एसडीएम विजयकुमार मिश्र, तहसीलदार प्रमेश कुमार, बीडीओ अमित त्रिपाठी, थानाध्यक्ष रामाश्रय राय, उप खंड अधिकारी विद्युत एसपी सिंह शामिल रहे।


Check Also

हाथरस की बेटी के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मचा तहलका सामने आया ये सच …

दरिंदगी की शिकार हुई हाथरस की बिटिया के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट बुधवार शाम को …