Home >> Face of the Moment >> अपने खर्च पर सभी कर्मचारियों उनके परिवारों को कोरोना वैक्सीन लगवाएगी इंफोसिस और एक्सेंचर

अपने खर्च पर सभी कर्मचारियों उनके परिवारों को कोरोना वैक्सीन लगवाएगी इंफोसिस और एक्सेंचर


देश में कोरोना वैक्सीनेशन का काम तेज़ी से जारी है और अब स्वास्थ्यकर्मियों से अलग आम लोगों को भी टीका लगना शुरू हो गया है. देश की दिग्गज आईटी कंपनी इंफोसिस ने ऐलान किया है कि वो भारत में अपने सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाएगी और इसका खर्चा खुद ही उठाएगी.

IT कंपनी इंफोसिस और सॉफ्टवेयर कंसल्टिंग फर्म एक्सेंचर ने अपने सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने का फैसला लिया है. सिर्फ कर्मचारी ही नहीं कंपनियों की ओर से उनके परिवारों (Immediate families) को भी वैक्सीन लगवाई जाएगी.

इंफोसिस के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर प्रवीण राव के मुताबिक, हम हेल्थ केयर प्रोवाइडर्स के साथ संपर्क में हैं. ताकि हम अपने कर्मचारियों और उनके परिवारों को वैक्सीन दिलवा सकें.

इंफोसिस की तरह ही एक्सेंचर ने भी अपने बयान में कहा कि वो अपने कर्मचारियों के साथ-साथ उनके परिवारों की वैक्सीन का खर्चा भी उठाएगी.

इन दो मुख्य कंपनियों के अलावा अन्य कई कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों के लिए वैक्सीन को खरीदना शुरू कर दिया है. इनमें महिंद्रा ग्रुप, ITC जैसी बड़ी कंपनियों के नाम शामिल हैं.

आपको बता दें कि भारत में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज़ शुरू हुआ है. इस फेज़ में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है. इसके अलावा 45 साल से अधिक उम्र वाले जिन्हें कोई गंभीर बीमारी है उन्हें भी टीका लगाया जा रहा है. देश में करीब 10 हजार सरकारी सेंटर्स पर वैक्सीन मुफ्त मिल रही है, जबकि प्राइवेट अस्पतालों में 250 रुपये प्रति डोज के हिसाब से मिल रही है.

भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को लगाया जा रहा है. देश में अभी तक डेढ़ करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है, इनमें हजारों लोग वो भी शामिल हैं जिन्हें वैक्सीन के दोनों डोज़ मिल चुके हैं.


Check Also

देश में रेमडेसिविर दवा की किल्लत : मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर जारी है। देश में कोरोना संक्रमण …