Home >> Face of the Moment >> तबाही का मंजर : देश में 1 दिन के भीतर 1 लाख 26 हजार 400 के करीब नए मामले सामने आए 700 के करीब लोगों ने तोड़ा दम

तबाही का मंजर : देश में 1 दिन के भीतर 1 लाख 26 हजार 400 के करीब नए मामले सामने आए 700 के करीब लोगों ने तोड़ा दम


भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण कहर बनकर टूट रहा है। पिछले सारे रिकॉर्ड को ध्वस्त करते हुए बुधवार को कोरोना के सवा लाख नए मामले दर्ज किए गए। राज्य सरकारों की ओर से जारी संक्रमितों का आंकड़ा पिछले 24 घंटे के भीतर 1 लाख 26 हजार 315 नए मामले आए हैं। जबकि 684 लोगों की मौत हो गई है। बुधवार को जो आंकड़े आए हैं वह अब तक का सबसे ज्यादा है। इससे पहले मंगलवार को 1.15 लाख नए मामले आए थे।

कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में वैसे तो पूरा देश है, लेकिन सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र, दिल्ली, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, पंजाब और तमिलनाडु है। इसमें भी महाराष्ट्र और दिल्ली का बहुत बुरा हाल है। पिछले दिन महाराष्ट्र में 60 हजार नए केस सामने आए हैं। बुधवार को महाराष्ट्र में कुल 59907 केस सामने आए हैं। जो पूरे देश में आए मामलों का पचास फीसदी है। महाराष्ट्र में कोरोना बेकाबू है। यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था भी प्रभावित हो रही हैं। हालांकि प्रशासन पुख्ता इंतजाम का दावा कर रहा है। लेकिन राज्य के कई शहरों में बेड्स की कमी मिलने की भी शिकायत हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या ज्यादा होने से स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों को नियंत्रित करने में कठिनाइयां हो रही है।

यही स्थिति दिल्ली की भी है। जहां एक दिन में पांच हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। दिल्ली में बुधवार को 5, 506 नए मामले दर्ज किए गए हैं। उत्तर प्रदेश में 6,023, कर्नाटक में 6,976 मामले दर्ज किए गए हैं। सबसे बड़ी चिंता की बात ये है देश में एक्टिव केस की संख्या नौ लाख के पार हो गई है। जो एक महीने पहले एक लाख के करीब एक्टिव मामले बचे थे। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए कई राज्यों में सख्त पाबंदियां, आंशिक लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगाए गए हैं।

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में तो 9 अप्रैलसे 19 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। वहीं मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में भी लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। साथ ही महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब कर्नाटक समेत कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक यह पाबंदी लागू की गई है।

देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा करेंगे। कोरोना की समीक्षा के बाद पीएम मोदी कुछ बड़ा एलान भी कर सकते हैं। हालांकि केंद्र सरकार ने बताया कि अगले 4 से 5 हफ्ते कोरोना को लेकर काफी चुनौती है। ऐसे में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए आप सभी से सहयोग की जरूरत है।


Check Also

उत्तराखंड में रेमडेसिविर को लेकर मचा हाहाकार, बाजार से गायब है इंजेक्शन, हो रही कालाबाजारी

देहरादून, कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार के साथ ही रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर हाहाकार मचा …