Home >> U.P. >> गोरखपुर मंडल में कोरोना संक्रमित के इलाज के लिए भरपूर आक्सीजन और बेडों की भी बढ़ रही है संख्या

गोरखपुर मंडल में कोरोना संक्रमित के इलाज के लिए भरपूर आक्सीजन और बेडों की भी बढ़ रही है संख्या


कोरोना पर लगाम लगाने के साथ ही प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अफसर अस्पतालों में बेड बढ़ाने और आक्सीजन की उपलब्धता दुरुस्त करने में जुटा है। अफसरों का दावा है कि गोरखपुर मंडल में कोरोना संक्रमित के इलाज के पर्याप्त इंतजाम हैं। सरकारी के साथ निजी अस्पतालों में भी बेड के साथ-साथ आक्सीजन के बैकअप का भी इंतजाम किया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर खुद व्यवस्था पर नजर रख रहे हैं।

बीआरडी में 500 बेड क्रियाशील

बाबा राघवदास मेडिकल कालेज में जहां 500 बेड का कोविड अस्पताल क्रियाशील है वहीं 100 बेड के टीबी अस्पताल में भी 90 और रेलवे में 28 पर संक्रमित को भर्ती करने की व्यवस्था कर दी गई है। महराजगंज, देवरिया और कुशीनगर के जिला अस्पतालों के एमसीएच विंग में 100-100 बेड के कोविड अस्पताल क्रियाशील हैं। देवरिया के कोविड अस्पताल की क्षमता 230 तक बढ़ाई जा रही है तो महराजगंज में निजी क्षेत्र के अस्पतालों में 200 बेड की व्यवस्था की गई है। 20 अप्रैल की शाम तक गोरखपुर के 31 निजी अस्पतालों में 916 बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जा चुकी थी। मंडल में कोविड अस्पतालों में उपलब्ध बेडों में 194 पर वेंटिलेटर की भी सुविधा है तो 301 पर एचएफएनसी (हाई फ्लो नेजल केन्यूला) की।

36 घंटे का आक्सीजन बैकअप उपलब्ध: मंडलायुक्त

कमिश्नर जयंत नार्लिकर ने बताया कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप सभी कोविड अस्पतालों को कम से कम 36 घंटे के लिए आक्सीजन का बैकअप उपलब्ध कराया गया है। गोरखपुर में तीन इकाइयों में प्रतिदिन 2600 सिलेंडर आक्सीजन का उत्पादन हो रहा है। एक और इकाई में उत्पादन जल्द शुरू हो जाएगा।

इतना डोज टीका उपलब्ध

गोरखपुर में 12,560 कोविशील्ड और 11,100 कोवैक्सिन, देवरिया में 10,610 कोविशील्ड और 5,240 कोवैक्सिन, कुशीनगर में 11,420 कोविशील्ड और 1,660 कोवैक्सिन और महराजगंज में 9770 कोविशील्ड व 7300 डोज कोवैक्सिन उपलब्ध है।

 

गोरखपुर मंडल में सरकारी कोविड अस्पतालों में उपलब्ध संसाधन

बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में 500 बेड का डेडिकेटेड कोविड अस्पताल। वेंटिलेटर बेड 60, टीबी अस्पताल गोरखपुर में 90 बेड और वेंटिलेटर बेड 11, रेलवे अस्पताल गोरखपुर में 28 बेड और वेंटिलेटर बेड 5,  जिला अस्पताल देवरिया में एमसीएच विंग में 100 बेड और वेंटिलेटर बेड 14 (इस अस्पताल की भर्ती क्षमता 230 तक बढ़ायी जा रही है), जिला अस्पताल कुशीनगर में एमसीएच विंग में 100 बेड और वेंटिलेटर बेड 14,जिला अस्पताल महराजगंज में एमसीएच विंग में 100 बेड और वेंटिलेटर बेड 14 हैं।


Check Also

दिल्ली में एक हफ्ते और आगे बढ़ा लॉकडाउन, 24 मई तक रहेंगी ये… पाबंदियां

दिल्ली में कोरोना की रफ्तार को थामने के लिए लगाया गया लॉकडाउन अब एक हफ्ते …