Home >> राज्य >> दिल्ली >> कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने के चलते लंबी दूरी की 37 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन शुरू करने का लिया फैसला

कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने के चलते लंबी दूरी की 37 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन शुरू करने का लिया फैसला


 दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत कई प्रदेशों में धीरे-धीरे लॉकडाउन खत्म होने और कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने के चलते लंबी दूरी की 32 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन शुरू करने का फैसला लिया है। इससे बिहार, उत्तर प्रदेश समेत देशभर के लाखों लोगों को राहत मिलेगी। पटरी पर लौटने वाली ट्रेनों में शताब्दी, राजधानी, दुरंतो और वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें भी शामिल हैं। उत्तर रेलवे ने बुधवार को एक बयान में यह जानकारी दी है। निरस्त की गई ट्रेनों में 8 जोड़ी शताब्दी, दो जोड़ी दुरंतो, दो जोड़ी राजधानी और एक जोड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस शामिल थीं। अब सभी ट्रेनें बहाल कर दी गई हैं।

बता दें कि अप्रैल-मई महीने के दौरान कोरोना संक्रमण और लाॅकडाउन का असर रेल परिचालन पर भी पड़ रहा था। यात्रियों की कमी के चलते शताब्दी एक्सप्रेस व राजधानी एक्सप्रेस सहित लंबी दूरी की कई दर्जन ट्रेनों का परिचालन निरस्त कर दिया था।। इसके साथ ही लोकल ट्रेनों की आवाजाही बंद कर गई थी, जिसका परिचालन हाल ही  में शुरू हुआ है।। इससे इन ट्रेनों से सफर करने वाले कर्मचारियों और अन्य लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा था, हालांकि रेलवे का कहना था कि ऐसा पैसेंजर नहीं मिलने के चलते फैसला लिया था।

कोरोना लॉकडाउन के चलते रद की गई थीं निम्न ट्रेनें

पुरानी दिल्ली-टूंडला एमईएमयू विशेष (04184/04183)

पुरानी दिल्ली-हाथरस किला एमईएमयू विशेष (04418/04417)

नई दिल्ली-अलीगढ एमईएमयू विशेष (04414/04413)

गाजियाबाद-मथुरा ईएमयू विशेष (04420/04419)

रेलवे अधिकारियों का कहना था कि उत्तर प्रदेश में लाॅकडाउन के कारण ट्रेनों को रद करने का फैसला किया था। इन ट्रेनों से सफर करने वाले सरकारी कर्मचारियों की परेशानी बढ़ गई थी। इसके साथ ही इलाज व अन्य जरूरी काम के लिए सफर करने वालों को भी दिक्क्त हुई थी।

दरअसल, लाॅकडाउन और कोरोना का असर अप्रैल और मई महीने में रेलवे पर भी दिखने लगा था। महाराष्ट्र, दिल्ली, हरियाणा, यूपी एवं बिहार जैसे राज्यों में लाॅकडाउन के कारण कई ट्रेनें कैंसिल हो रही थीं। लॉकडाउन के कारण राजधानी जैसी महत्वपूर्ण ट्रेनों में सीटें खाली रह जा रही थीं। इस कारण दिल्ली से भुवनेश्वर के बीच चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस के फेरे कम किए गए थे। अधिकारियों का कहना था कि अधिकांश राज्यों में लॉकडाउन की वजह से यात्रियों की संख्या में कमी आ रही थी, इसलिए ट्रेनों को निरस्त किया था।


Check Also

उधर पीलीभीत के सीएमओ को बचाया इधर आगरा के पारस अस्पताल को बचाया

अजब न्याय की गजब परिभाषा की बयार चल पड़ी है, शासन को यही नहीं पता …