Home >> Breaking News >> तीसरे विकल्प के संकेत : नीतीश

तीसरे विकल्प के संकेत : नीतीश


Nitish
पटना,एजेंसी- 6 फरवरी। बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के वरिष्ठ नेता नीतीश कुमार ने आज कहा, गैर कांग्रेस और गैर भारतीय जनता पार्टीर् (भाजपा) ब्लॉक बनाए जाने के लिए विभिन्न दलों के बीच बातचीत सकारात्मक रही।
कुमार ने कहा, नई दिल्ली में आज वामपंथी दलों की पहल पर बुलाई गई बैठक में पुराने जनता दल परिवार की पार्टियों समेत कई दलों ने हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि इस बैठक में गैर कांग्रेस गैर भाजपा ब्लॉक बनाए जाने के लिए बातचीत हुई जो अच्छी और सार्थक रही है। मुख्यमंत्री ने कहा, बैठक में यह निर्णय लिया गया कि नौ फरवरी को इस संबंध में फिर बातचीत की जाएगी। आज की बैठक के बाद पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने उनसे फोन पर बातचीत की थी। उन्होंने कहा, गैर कांग्रेस-गैर भाजपा ब्लॉक कोई न कोई आकार लेगा जो आगे एक मजबूत विकल्प बनेगा। कुमार ने समाज कल्याण मंत्री परवीन अमानुल्लाह के त्याग पत्र के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि उन्होंने श्रीमती अमानुल्लाह को अपने आवास पर बातचीत के लिए आज बुलाया था। इस दौरान उन्हें ऐसा महसूस नही हुआ कि वह हम लोगों के साथ आगे नहीं चल सकती हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीमती अमानुल्लाह ने कुछ समय जरूर मांगा था लेकिन बाद में मीडिया से कुछ अलग बातें ही कही। इस पर उन्होंने फिर श्रीमती अमानुल्लाह से फोन पर बातचीत की तब उन्होंने उनसे उन्हें मंत्री पद की जिम्मेदारी से मुक्त करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, श्रीमती अमानुल्लाह के आग्रह को स्वीकार करते हुए वह उन्हें मंत्री पद की जिम्मेदारी से मुक्त करने के लिए रायपाल से अनुशंसा करेंगे।
श्री कुमार ने अफसरशाही के बढ़ते प्रभाव के संबंध में पूछे गए प्रश्न के उत्तर में कहा कि व्यवस्था में परिर्वतन की बात पहले भी होती रही है। उन्होंने कहा कि लोक नायक जयप्रकाश नारायण ने भी व्यवस्था में परिवर्तन के लिए क्रांति का आह्वान किया था और वह भी इस लड़ाई को लड़ चुके है। मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यवस्था परिवर्तन के लिए वह अपनी आवाज आगे भी उठते रहेंगे। उन्होंने कहा कि संसदीय लोकतंत्र शासन की सबसे अच्छी व्यवस्था है और हमारा संविधान दुनियां का सर्वश्रेष्ठ संविधान है। कुमार ने कोलकाता मे भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी की सभा और उनके भाषण से जुड़े प्रश्नों के उत्तर में कहा कि हर आदमी अपनी सभा की भीड़ को बढ़ा-चढ़ा कर कहता है। उन्होंने कहा, बिहारियों के संबंध में जिस तरह की बात महाराष्ट्र से सुनने को मिलती थी उसी तरह की बात अब गुजरात से भी सुनने को मिल रही है। इससे ही सहज अंदाजा लगाया जा सकता है दिल्ली में वे कैसा शासन बनाएगे।


Check Also

मणिपुर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गोविंददास कोंथौजम भाजपा में हुए शामिल

पूर्व मंत्री और मणिपुर के बिष्णुपुर जिले से छह बार विधायक रहे गोविंददास कोंठौजम 1 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *