Wednesday , 30 September 2020
Home >> In The News >> देशभर में कहीं बारिश कहीं लू, अब तक 1826 लोगों की मौत

देशभर में कहीं बारिश कहीं लू, अब तक 1826 लोगों की मौत


नई दिल्ली,(एजेंसी)29 मई। देशभर में मौसम का पारा चढ़ा हुआ है। लेकिन गुरुवार को कुछ जगहों पर बारिश के कारण तापमान में आई मामूली कमी ने गर्मी से थोड़ी सी राहत दिलाई है। लेकिन गर्मी के कारण देशभर में मरने वालों की संख्या 1826 गई है। इनमें आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बुधवार से अब तक 414 लोगों की मौत हो चुकी है।

3-29-05-2015-1432866250_storyimage

Image Loading

आंध्र में लू से मरने वालों की कुल संख्या 1334 है, जबकि तेलंगाना में 440 लोग इसकी चपेट में आकर मारे जा चुके हैं। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिनों तक लू से राहत नहीं मिलने वाली है। बिहार, झारखंड, उत्तराखंड, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और पंजाब में भी लू का प्रकोप जारी है। हिमाचल प्रदेश के निचले इलाकों में भी गर्मी का स्तर बढ़ गया है और उना में तापमान 43.2 डिग्री तक पहुंच गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक, बुन्देलखण्ड और पश्चिमी यूपी बुरी तरह तप रहा है। इस भीषण गर्मी में भी 35 से 38 डिग्री तापमान के आसपास रहने वाले पूर्वांचल के गोरखपुर, बलिया जैसे इलाकों में भी पारा अब 40 डिग्री को छूने लगा है। प्रदेश के लगभग सभी जिलों में गुरुवार को दिन का तापमान 40 डिग्री से ऊपर दर्ज हुआ। प्रदेश का सबसे गर्म स्थान इलाहाबाद रहा, जहां पारा 45.7 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से चार डिग्री अधिक था। देश में सबसे अधिक तापमान 46.5 डिग्री ओडिशा के भवानीपत्तन में रिकाॠर्ड किया गया।

मानसून पूर्व बारिश ने दी राहत
दक्षिण भारत में गुरुवार को हुई मानसून पूर्व बारिश के चलते गर्मी से राहत मिली है। स्काईमेट के अनुसार तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक में हो रही यह बारिश अगले दो-तीन दिनों तक जारी रहेगी। बारिश का रुख धीरे धीरे बिहार, झारखंड और ओडिशा की ओर होगा। बारिश होने से इस समूचे हिस्से में झुलसाने वाली धूप और लू से कुछ राहत मिली है। चेन्नई में बादल छाए रहने के कारण भीषण गर्मी से परेशान लोगों के लिए गुरुवार सुबह ठंडी रही। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में भी बादल छाए रहे जिससे लोगों को तीखी गर्मी से मामूली राहत दी। यहां बारिश के और आसार हैं।

यहां हुई बारिश
तमिलनाडु
कर्नाटक
केरल
मेघालय
अंडमान एवं निकोबार

यहां चली लू
उत्तर प्रदेश
बिहार
उत्तराखंड
आंध्र प्रदेश
तेलंगाना

बढ़ेगा भीषण लू का खतरा
सेंटर फोर साइंस एंड इनवायरोनमेंट (सीएसई) के अनुसार देशभर में चल रही लू भयंकर गर्मी की एक अन्य झलक है। साथ ही चेतावनी दी कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण आने वाले समय में भयंकर लू का सामना करना पड़ सकता है। सीएसई ने कहा कि मानवीय गतिविधियों की वजह से ग्लोबल वार्मिंग ने 2014 को सबसे गर्म वर्ष बना दिया। और लू की प्रबल संभावना है क्योंकि धरती का तापमान पिछले 100 साल में औसत 0.8 डिग्री बढ़ है। रात का तापमान भी बढ़ रह है, अहमदाबाद एवं दिल्ली में हाल ही में यह 39 और 36 डिग्री है। हालांकि 2010 की तुलना में वर्ष 2015 में लू की अवधि कम रही है लेकिन इस साल अधिक लोगों की जान गई है।


Check Also

दुखद: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के पिता श्रीकृष्ण बिरला का निधन

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के पिता श्रीकृष्ण बिरला का मंगलवार शाम को निधन हो गया। 92 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *