Home >> In The News >> भारत में 30 फीसदी ड्राइविंग लाइसेंस हैं फर्जी : गडकरी

भारत में 30 फीसदी ड्राइविंग लाइसेंस हैं फर्जी : गडकरी


नई दिल्ली,(एजेंसी)01 जून। केंद्रीय परिहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया है कि देश में करीब 30 फीसदी ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी हैं और सरकार ने इस तंत्र में पारदर्शिता लाने एवं उसे भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए नये मोटर वाहन अधिनियम का प्रस्ताव रखा है।

gadkari

गडकरी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ड्राइविंग लाइसेंस पर स्थिति यह है कि देश में 25-30 फीसदी ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी हैं। अतएव, सरकार ने विकसित देशों- अमेरिका, कनाडा, जापान, जर्मनी और सिंगापुर के नमूनों को पढ़ने तथा राज्यों से परामर्श करने एवं आम लोगों से सूचनाएं संग्रहित करने के बाद नया मोटर वाहन अधिनियम प्रस्तावित किया है। ’’

उन्होंने बताया कि प्रस्तावित कानून में लाइसेंस जारी करना कंप्यूटर आधारित हो जाएगा और उपग्रहों से जुड़ा होगा। यदि पात्र उम्मीदवारों को लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा तो संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई होगी।

उन्होंने कहा कि पांच लाख से अधिक जनसंख्या वाले शहरों में यातायात नियमों के उल्लंघन का रिकार्ड करने के लिए उपग्रहों से जुड़े कैमरे लगाये जाएंगे और जो उल्लंघनकर्ता जुर्माने को चुनौती देते हैं, उन्हें, यदि अपराध साबित होता है तो दुगना जुर्माना भरना पड़ेगा।


Check Also

केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान के बेटे चिराग पासवान से बिहार चुनाव से काफी उम्मीद लगाई जा रही

लोक जनशक्त‍ि पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के एक बयान ने बिहार की राजनीति में खलबली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *