Tuesday , 29 September 2020
Home >> राज्य >> RJD-JDU मिलकर लड़ेंगे बिहार में विधानसभा चुनाव, नीतीश के नाम पर नहीं बनी सहमति

RJD-JDU मिलकर लड़ेंगे बिहार में विधानसभा चुनाव, नीतीश के नाम पर नहीं बनी सहमति


बिहार,(एजेंसी)08 जून। जनता परिवार के ‘महागठबंधन’ के बाद लालू और नीतीश के बीच की रार को सुलझाने के लिए मुलायम सिंह यादव के घर रविवार को बैठक हुई. बैठक में चुनाव के लिए 6 सदस्यीय कमेटी बनाई गई। कमेटी में 3-3 सदस्य आरजेडी और जेडीयू से होंगे। बिहार चुनाव आरजेडी और जेडीयू मिलकर लड़ेंगे. गठबंधन के नेतृत्व को लेकर बैठक में कोई फैसला नहीं हुआ, नीतीश कुमार के नाम पर इस बैठक में सह‍मति नहीं बन पाई।

It has been decided that election will be contested on the basis of merger: Ram Gopal Yadav on Janata Parivar meeting pic.twitter.com/7eEMubTBln

— ANI (@ANI_news) June 7, 2015

सूत्रों के मुताबिक, नीतीश कुमार गठबंधन के नेता हो सकते हैं, जबकि लालू यादव बोर्ड में शामिल हो सकते हैं। आरजेडी के बोर्ड में न आने की स्थिति में जेडीयू कांग्रेस और एनसीपी समेत अन्य पार्टियों के साथ गठबंधन कर सकती है। लालू यादव अगर नीतीश के नेतृत्व स्वीकार कर लेते हैं तो ये संभव है कि आरजेडी को चुनाव में ज्यादा सीटें मिल सकती हैं।

janta-parivar-s_650_060715080429
जनता परिवार के अहम घटक (फाइल फोटो)

इस बैठक से पहले नीतीश अचानक कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने पहुंच गए। इस मुलाकात ने गठबंधन का पेंच और उलझा दिया है। बैठक में शामिल होने के लिए नीतीश और लालू दिल्ली पहुंचे। नीतीश और राहुल की मुलाकात पर लालू यादव ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। कांग्रेस नीतीश को मुख्यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्ट करने को तैयार है लेकिन लालू मानने से पहले पूरी कीमत वसूलना चाहते हैं।

दिल्ली में भले ही जनता परिवार के नेतृत्व के लिए माथापच्ची हो रही हो, लेकिन लगता नहीं कि नीतीश झुकने के लिए तैयार हैं। बैठक से ठीक एक दिन पहले पटना की सड़कें नीतीश को बिहार के अगले CM के तौर पर प्रोजेक्ट करते पोस्टरों से पटे पड़े थे। जेडीयू ने पोस्टर पर सफाई देने की बजाय दो टूक कहा कि नीतीश सीएम के तौर पर लोगों की पहली पसंद हैं इसलिए पोस्टर छपवाए गए हैं।


Check Also

हरियाणा में कोरोना मरीजो की संख्या 122267 पहुची अब तक 1291 लोगो की हो चुकी मौत

हरियाणा में 1689 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं। जबकि 2554 मरीज ठीक हो गए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *