Home >> Breaking News >> जनता सिखाएगी Congress , BJP को सबक : केजरीवाल

जनता सिखाएगी Congress , BJP को सबक : केजरीवाल


Kejriwal
नई दिल्ली,एजेंसी-15 फरवरी। जनलोकपाल बिल को गिराने को लेकर कांग्रेस और भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जनता इन दोनों पार्टियों को आने वाले समय में सबक सिखाएगी।
उन्होंने कहा, ‘वह झूठ बोलते हैं कि हम संविधान का पालन नहीं कर रहे। वह हमसे भ्रष्टाचार करवाना चाहते हैं। भाजपा और कांग्रेस दोनों ने हाथ मिला लिए हैं। हम कहते हैं भ्रष्टाचार मिटाओ। वह कहते हैं यह असंवैधानिक है।’ केजरीवाल ने यहां आम आदमी पार्टी मुख्यालय के बाहर बड़ी संख्या में मौजूद अपने समर्थकों से कहा, ‘वह माइक तोड़ते हैं और इसे संवैधानिक मानते हैं। जनता उन्हें सबक सिखाएगी।’ उन्होंने कहा कि दोनों दल चाहते थे कि वह उनकी इच्छाओं के अनुसार काम करें।

विधानसभा में शुक्रवार को जनलोकपाल विधेयक की हार के बाद इस्तीफा देने वाले केजरीवाल ने कहा, ‘विधानसभा में कल जो कुछ हुआ उससे मेरा दिल टूट गया। वह चाहते थे कि हम उनकी इच्छाओं के अनुसार काम करें। वह सोचते हैं कि हम नए हैं और हम जो भी काम करेंगे, उसमें उनकी सलाह मांगेंगे। लेकिन हमने संविधान का पालन किया और मैं संविधान के लिए अपना जीवन बलिदान करने को तैयार हूं।’

अपनी करीब आधे घंटे की तकरीर में केजरीवाल ने भाजपा और कांग्रेस दोनों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘मुझे याद है कि जब दिल्ली विधानसभा के चुनाव हुए थे तो हम यहां थे। मुझे याद है मैंने इसी खिड़की से आपको संबोधित किया था। हमें 28 सीटें मिलीं और हम सरकार बनाने के बारे में निश्चित नहीं थे। हमारा विचार था कि हम भाजपा या कांग्रेस का सहयोग नहीं लेंगे।’ केजरीवाल ने कहा, ‘कांग्रेस ने जबर्दस्ती हमें समर्थन दिया। हमने लोगों से पूछा। उन्होंने जितने दिनों के लिए हो सके समर्थन लेने और अच्छा काम करने को कहा।’ इसके बाद हम 28 दिसंबर को सत्ता में आए। हमारा सबसे बड़ा वादा एक मजबूत भ्रष्टाचार निरोधक जन लोकपाल विधेयक था। कांग्रेस ने लिखित में दिया था कि वह जन लोकपाल विधेयक का समर्थन करेंगे।

‘आज जब हमने विधानसभा में जन लोकपाल विधेयक पेश करने का प्रयास किया तो भाजपा और कांग्रेस एक हो गए। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था.. ‘उन्होंने जन लोकपाल विधेयक को हरा दिया। ऐसा क्यों हुआ, क्योंकि तीन दिन पहले मुकेश अंबानी (रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष) के खिलाफ हमने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। यह वही आदमी है जो देश की सरकार चलाता है।’

केजरीवाल ने आरोप लगाया, ‘मुकेश अंबानी ने एक बार कहा था कि कांग्रेस उसकी दुकान है और वह उससे कुछ भी खरीद सकता है और पिछले दस साल से वह संप्रग सरकार चला रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘मोदी के पीछे भी मुकेश अंबानी है। मोदी को इतना पैसा कहां से मिलता है? मोदी हेलीकॉप्टर में घूमते हैं। इतनी विशाल रैलियां करने के लिए उनके पास पैसा कहां से आता है? जब हमने मुकेश अंबानी की तरफ उंगली उठाई तो कांग्रेस और भाजपा ने हाथ मिला लिए।’

केजरीवाल ने कहा, ‘वह सोचते हैं कि केजरीवाल भ्रष्टाचार के खिलाफ एक छोटी सी इकाई है और वह इस तरह की बाधाएं खड़ी कर रहे हैं। अगर जन लोकपाल विधेयक बन गया तो उनके आधे से ज्यादा पार्टीजन जेल में होंगे। वह सोचते हैं कि हम शरद पवार, कमल नाथ के खिलाफ भी आवाज उठाएंगे।’

उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस देश को लूटने के लिए हर दिन मिलते हैं, ‘लेकिन पिछले कुछ दिनों में उनके असली चेहरे सामने आ गए हैं। दोनों ने आज विधेयक को विधानसभा में पास नहीं होने दिया।’

केजरीवाल ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस पिछले पांच साल में बिजली वितरण कंपनियों का ऑडिट नहीं करवा पाईं, जो हमने पांच दिन में कर दिया। वह 65 बरस में भ्रष्टाचार नहीं मिटा पाए, हमने शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई।

केजरीवाल ने सवाल किया, ‘उन्होंने हमसे कहा कि ऐसा मत करो और सरकार चलाओ। क्या भ्रष्ट को जेल में डालना सरकार चलाना नहीं है?’ केजरीवाल ने कहा, ‘मैं कोई नहीं हूं। मैं आप में से ही एक हूं। मैं पद के लिए यहां नहीं आया था। आज जब जनलोकपाल विधेयक पास नहीं हो पाया तो हमारी सरकार ने इस्तीफा दे दिया। हमारी केबिनेट ने सिफारिश की है कि विधानसभा को भंग कर दिया जाए और ताजा चुनाव कराए जाएं।’

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार पूरे समर्पण के साथ दिल्ली की जनता के कल्याण के लिए दिन रात काम कर रही थी। ‘अगर मुझे मुख्यमंत्री के पद से 100 बार भी इस्तीफा देना पड़े तो मैं दूंगा..अंत में मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करूंगा कि हम छोटे लोग हैं, कृपया हमें सद्बुद्धि दें ताकि हम देश के भले के लिए अपने प्राणों की आहूति दे सकें।’


Check Also

सरकारी कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर! दोगुने से ज्यादा बढ़ेगी सैलरी, इस महीने से लागू होंगे सभी नियम

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच पंजाब सरकार ने 6th Pay Commission को लेकर बड़ा निर्णय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *