Wednesday , 23 September 2020
Home >> Exclusive News >> साकेत महाविद्यालय में नहीं मिला तोमर का रिकार्ड

साकेत महाविद्यालय में नहीं मिला तोमर का रिकार्ड


फैजाबाद,(एजेंसी)12 जून। पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र ¨सह तोमर की फर्जी डिग्री प्रकरण की जांच करने यहां आई दिल्ली पुलिस की टीम दूसरे दिन भी साकेत महाविद्यालय व डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के दस्तावेजों की छानबीन करती रही। दिल्ली पुलिस की टीम पूर्वाह्न करीब साढ़े 11 बजे जितेंद्र ¨सह तोमर को लेकर साकेत महाविद्यालय पहुंची, जहां दस्तावेजों के साथ-साथ तोमर से कॉलेज का भौगोलिक सत्यापन कराया गया। इसी दौरान दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारी अवध विवि पहुंचे, जहां उन्होंने विवि के दस्तावेजों को खंगालने के साथ-साथ कई अहम जानकारियां हासिल कीं। पता चला है कि दूसरे दिन भी तोमर के अंकपत्र से जुड़े कोई भी दस्तावेज महाविद्यालय व अवध विवि में नहीं मिले। सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है।

11_06_2015-11faz010

गुरुवार को पूर्वाह्न 11.30 बजे दिल्ली पुलिस तोमर को लेकर साकेत महाविद्यालय पहुंची। इसी बीच दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारी विवि पहुंचे और दोनों ही स्थानों पर करीब-करीब एक ही समय एक साथ दस्तावेजों को खंगाला जाना आरंभ किया गया। साकेत महाविद्यालय में पत्रावलियों से तोमर की मार्कशीट व अंकपत्रों का कॉलेज के दस्तावेजों से मिलान किया जाता रहा, लेकिन कहीं भी तोमर का रिकार्ड नहीं मिला। पुलिस अधिकारी कॉलेज के 1987 व 1988 के प्रवेश, परीक्षा व अंकतालिका आदि से जुड़े दस्तावेजों को साथ ले गए है।

वहीं अवध विवि में करीब चार बजे तक पुलिस अधिकारी छानबीन करते रहे। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को फर्जी डिग्री का रैकेट चलाने वालों का सुराग भी हाथ लगा है। इसी के मद्देनजर दूसरे दिन भी छानबीन जारी रही। अवध विवि व साकेत महाविद्यालय में कुछ पूर्व कर्मचारियों के बारे में भी जानकारी ली गई है। साथ ही विवि व महाविद्यालय में लंबे समय से कार्यरत लोगों से भी हस्ताक्षर आदि की पहचान कराई गई है। हालांकि दिल्ली पुलिस की टीम ने दूसरे दिन भी पूरी तरह से मीडिया से दूरी ही बनाए रखी। गुरुवार को भी मीडिया कर्मियों ने छानबीन के सिलसिले में कई बार वार्ता करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस अधिकारियों का हर बार का जवाब नहीं में ही रहा।


Check Also

नोएडा उत्तर भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक हब बनेगा: CM योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा में उत्तर भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक हब बनाने का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *